• Home
  • Jewar set to be India’s largest airport, with 6 runways

उपलब्धि /6-रनवे के साथ जेवर होगा देश का सबसे बड़ा एयरपोर्ट 

  • भारत में अधिकतम तीन रनवे का एयरपोर्ट सिर्फ दिल्ली स्थित आईजीआई एयरपोर्ट है
  • इस एयरपोर्ट का निर्माण 5000 हजार हेक्टेयर में किया जाएगा
  • एयरपोर्ट का निर्माण कार्य जनवरी 2020 से शुरू कर दिया जाएगा। 

Moneybhaskar.com

Sep 26,2019 10:50:20 AM IST

नई दिल्ली. जेवर में बनने वाले देश के सबसे बड़े इंटरनेशनल एयरपोर्ट में 6 रनवे होंगे। पहले यहां दो रनवे का निर्माण होना था। जेवर देश का पहला इंटरनेशनल एयरपोर्ट होगा जिसमें 6 रनवे होंगे। यह जानकारी बुधवार को यमुना अथॉरिटी के सीईओ अरुण वीर सिंह ने दी। बता दें कि अभी भारत में अधिकतम तीन रनवे का एयरपोर्ट सिर्फ दिल्ली स्थित आईजीआई एयरपोर्ट है।

जेवर हवाई अड्डा विश्व के सबसे बड़े एयरपोर्ट कि लिस्ट में हो जाएगा शुमार

जब यह एयरपोर्ट पूरी तरह से बनकर तैयार हो जाएगा, तब यह विश्व का सबसे बड़ा हवाई अड्डा होगा। बता दें कि वर्तमान में ओ हारे इंटरनेशनल एयरपोर्ट (O’Hare International Airport) विश्व का सबसे बड़ा एयरपोर्ट है। यह 7,200 एकड़ की जमीन पर फैला हुआ है। इस एयरपोर्ट पर 8 रनवे हैं। इसके अलावा अमेरिकी राज्य के डलास / फोर्ट वर्थ अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डा के सात रनवे है। अभी नीदरलैंड के एम्सटर्डम एयरपोर्ट स्किफोल 6 रनवे के साथ है। इसके अलावा यूएस के डेट्रायट मेट्रोपोलिटन, Boston Logan इंटरनेशनल एयरपोर्ट, Denver इंटरनेशनल एयरपोर्ट 6 रनवे के साथ है।

इस एयरपोर्ट का निर्माण 5000 हजार हेक्टेयर में किया जाएगा

अरुण वीर सिंह के मुताबिक, इस एयरपोर्ट का निर्माण 5000 हजार हेक्टेयर में किया जाएगा जिस पर 15,754 करोड़ रुपए की लागत आएगी। एयरपोर्ट का निर्माण कार्य जनवरी 2020 से शुरू कर दिया जाएगा।

यहां से 2023 में उड़ेंगे जहाज

दिल्ली के आईजीआई एयरपोर्ट के एरिया में इस समय 11 प्रतिशत की दर से यात्री बढ़ रहे हैं। आईजीआई पर 51 प्रतिशत कार्गो नोएडा और गाजियाबाद से पहुंचता है, जो बाद में जेवर एयरपोर्ट पहुंचेगा। जेवर में एयरपोर्ट 2023 तक चालू होने की उम्मीद है। यहां 5 मिलियन यात्री शुरुआत में मिलने की उम्मीद है। चौथे चरण में 70 मिलियन यात्री मिलेंगे। एयरपोर्ट से मथुरा, आगरा, अलीगढ़, पलवल, ग्रेटर नोएडा, नोएडा, मेरठ और गाजियाबाद आदि एरिया के लोगों को फायदा होगा। इन शहरों के लिए सड़कों और मेट्रो के जरिए कनेक्टिविटी की जाएगी। एयरपोर्ट निर्माण के संबंध में नियाल का गोल्डन शेयर रहेगा। इस तरह नियाल को किसी भी निर्णय के लिए वीटो पावर होगी

X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.