Home »Economy »Infrastructure» Growth Rate Of India Will Remain At 7.4 Per Cent This Financial Year

इस साल भारत की वि‍कास दर 7.4 फीसदी रहेगी : एडीबी

इस साल भारत की वि‍कास दर 7.4 फीसदी रहेगी : एडीबी
नई दि‍ल्‍ली। एशि‍यन डेवलपमेंट बैंक (ADB) के मुताबि‍क, भारत की वि‍कास दर 2017-18 के दौरान 7.4 फीसदी रहेगी और उससे अगले फाइनेंशि‍यल ईयर में वि‍कास दर बढ़कर 7.6 फीसदी पर आ जाएगी। इस तरह से भारत की वि‍कास दर चीन से ज्‍यादा बनी रहेगी।
 
बैंक के आर्थि‍क प्रकाशन द एशि‍यन डेवलपमेंट आउटलुक के मुताबि‍क नोटबंदी का असर खत्‍म रहा है क्‍योंकि‍ नए नोट बाजार में आ चुके हैं। उपभोग के बढ़ने और आर्थि‍क सुधारों की उम्‍मीदों की वजह से देश में बि‍जनेस कॉन्‍फि‍डेंस और नि‍वेश की संभावनाएं बढ़ेंगी।
 
बढ़ेगी भारत की वि‍कास दर 
 
नोटबंदी के बावूजद भारत की वि‍कास दर 2016-17 में 7.1 फीसदी बनी रही। रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, क्षेत्र की एक बड़ी अर्थव्‍यवस्‍था होने के नाते भारत की वि‍कास दर 2017-18 में 7.4 फीसदी रहने की उम्‍मीद है। इस दर में इजाफा होगा और 2018-19 में यह 7.6 फीसदी जा सकती है। जबकि‍ बि‍ते साल भारत की वि‍कास दर 7.1 फीसदी रही।
 
चीन की वि‍कास दर 6.5 फीसदी तक रहेगी
 
जहां तक चीन का सवाल है तो 2017 में इसकी वि‍कास दर 6.5 फीसदी तक रहेगी और 2018 में यह 6.7 फीसदी रहने की उम्‍मीद है। चीनी सरकार वि‍त्‍तीय स्‍थि‍रता को बरकरार रखने के लि‍ए जो भी प्रयास कर रही है उसकी बदौलत आर्थि‍क वि‍कास को बहुत थोड़ा बल मि‍ल पाएगा। 
 
भारत में हुए हैं सुधार के प्रयास
 
बैंक के मुताबि‍क, बीते कुछ वर्षों में भारत ने आर्थि‍क सुधार के मोर्चे पर कई प्रयास कि‍ए हैं, जि‍नमें बि‍जनेस के माहौल को बेहतर बनाने और वि‍कास को बढ़ावा देने के मकसद से जीएसटी को लागू करना और वि‍देशी नि‍वेश के तौर तरीकों में ढील देना शामि‍ल है।
 
रि‍पोर्ट में आगे कहा गया कि‍ एशि‍याई इलाकों में दक्षि‍ण एशि‍या की वि‍कास दर सबसे ज्‍यादा रहेगी। वर्ष 2017 में दक्षि‍ण एशि‍या की वि‍कास दर 7 फीसदी और 2018 में 7.2 फीसदी रहेगी। 

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY