Home »Economy »Infrastructure» Minister Said The Problem Of Call Drops Has Been Resolved To A Great Extent

कॉल ड्रॉप की समस्या सरकार के हिसाब से सुधर गई, संसद में दी जानकारी

नई दिल्‍ली. देश में मोबाइल कॉल ड्रॉप की समस्‍या लगभग खत्‍म हो गई है। ऐसा ट्राई के एक सर्वे में सामने आया है। यह जानकारी देश के संचार मंत्री मनोज सिन्‍हा ने आज लोकसभा में दी। साथ ही उन्‍होंने बताया कि देश में अभी भी 50 हजार ऐसे गांव हैं, जहां मोबाइल नेटवर्क नहीं है। सरकार ने कहा कि हमने कभी भी यह दावा नहीं किया है कि पूरे देश मोबाइल नेटवर्क के क्षेत्र में है।
 
ट्राई के सर्वे में घटी 60 फीसदी कॉल ड्राप की समस्‍या
 
संचार मंत्री ने संसद में पूरक प्रश्‍न के उत्‍तर में बताया कि देश में कॉल ड्रॉप की समस्‍या काफी हद तक खत्‍म हो गई है। इन्‍होंने जानकारी दी कि ट्राई के सर्वे में सामने आया है कि कॉल ड्राप की समस्‍या में 60 फीसदी की कमी आई है। उन्‍होंने बताया कि नीलामी के जरिए स्‍पैक्‍ट्रम देने और मोबाइल टॉवर ज्‍यादा लगने से कॉल ड्राप में कमी आई है। एक अन्‍य प्रश्‍न के उत्‍तर में उन्‍होंने बताया कि बीएसएनएल के कर्मचारियों को कंपनी के शेयर देने की कोई योजना नहीं है। साथ ही उन्‍होंने कहा कि पिछले दो सालों से बीएसएनएल ऑपरेटिंग प्रॉफिट में चल रही है।
 
इन क्षेत्रों में हैं नेटवर्क नहीं होने वाले गांव
 
इन इलाकों में नार्थ ईस्‍ट के राज्‍य, नक्‍सल प्रभावित राज्‍य, अंडमान एंड निकोबार आइसलैंड तथा लक्ष्‍यदीप जैसी जगहें शामिल हैं। लोकसभा में यह जानकारी आज संचार मंत्री मनोज सिन्‍हा ने दी।
 
भारत नेट योजना पर चल रहा है काम
 
सिन्‍हा ने कहा कि देश में ब्राडबैंड कनेक्टिविटी बढ़ाने के लिए 'BharatNet' योजना पर काम चल रहा है। इसके तहत देश की 2.5 लाख ग्राम पंचायतों को जोड़ा रहा रहा है। यहां पर 100 एमपीबीएस की स्‍पीड से इंटरनेट मिलेगा। इन्‍होंने बताया कि पहले चरण में इस योजना के तहत 1 लाख गांवों को जोड़ने का काम चल रहा है।
 
31 मार्च तक 4780 ग्राम पंचायतें जोड़ी गईं 
 
सरकार ने बताया है कि 31 मार्च तक देशभर की 4780 ग्राम पंचायतों को इस योजना से जोड़ा जा चुका है। इसके लिए 11294 किलोमीटर ऑप्टिकल फायबर डाला गया है। यह काम आगे भी तेजी से चल रहा है। 

और देखने के लिए नीचे की स्लाइड क्लिक करें

Recommendation

    Don't Miss

    NEXT STORY