• Home
  • country requires USD 1 trillion for the development of new roads, ports and airports over the next few years.

रोड, पोर्ट व एयरपोर्ट पर पांच साल में 67 लाख करोड़ खर्च करने की जरूरत: गडकरी

Economy Team

Jan 31,2016 06:48:00 PM IST
नई दिल्‍ली। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने देश के विकास के लिए इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर को प्रमुख चुनौती बताया है। उन्‍होंने कहा कि आने वाले पांच वर्षों में नई सड़कों, बंदरगाहों और एयरपोर्ट बनाने के लिए 67 लाख करोड़ रुपए की जरूरत है। उन्‍होंने कहा कि इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर निर्माण से जीडीपी ग्रोथ रेट में दो फीसदी का इजाफा हो सकता है।
इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर से जीडीपी ग्रोथ रेट में दो फीसदी का होगा इजाफा
गडकरी ने कहा कि नीति निर्माताओं के लिए इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर एक प्रमुख चुनौती है। आने वाले सालों में नई सड़कें, पोर्ट्स और एयरपोर्ट्स बनाने के लिए देश को एक लाख करोड़ डॉलर यानी 67 लाख करोड़ रुपए की जरूरत होगी। उन्‍होंने कहा कि इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर निर्माण से जीडीपी ग्रोथ रेट में दो फीसदी का इजाफा हो सकता है। क्‍योंकि इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर से सभी तरह की एक्टिविटी में गति आएगी और मैन्‍युफैक्‍चरिंग को भी बढ़ावा मिलेगा।
इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर के निर्माण के लिए फंड की कमी नहीं
गडकरी ने कहा कि एनडीए सरकार देश के इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर को पूरी तरह बदलना चाहती है। इसके लिए सभी तरह के प्रयास किए जा रहे हैं। उन्‍होंने कहा कि देश में इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर के निर्माण के लिए फंड की कोई कमी नहीं है।
डेमॉरलाइज्‍ड ब्‍यूरोक्रेसी दुर्भाग्‍यपूर्ण
मिनिस्‍टर ने कहा‍ कि देश में पैसे की भले कोई समस्‍या नहीं है। लेकिन डेमॉरलाइज्‍ड ब्‍यूरोक्रेसी जरूर हमारे लिए दुर्भाग्‍यपूर्ण है। हालांकि उन्‍होंने कहा कि रोड प्रोजेक्‍ट्स की राह में आने वाली नौकरशाही से संबंधित परेशानियों को दूर कर लिया जाएगा। और उनसे जुड़े निर्णय भी जल्‍द लिए जाएंगे।
इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर सेक्‍टर सरकार के अनिर्णय का शिकार
गडकरी ने कहा कि इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर सेक्‍टर सरकार के अनिर्णय का शिकार रहा है। इसलिए इस समय की जरूरत तेज गति से प्रोजेक्‍ट की मंजूरी और उसका क्रियान्‍वयन करना है।
बैंकरों और कॉन्‍ट्रैक्‍टर्स के साथ कई दौर की वार्ता
उन्‍होंने कहा कि सरकार ने बैंकरों और कॉन्‍ट्रैक्‍टर्स के साथ कई दौर की वार्ता की है। जमीन के अधिग्रहण और प्रोजेक्‍ट की स्‍वीकृति से जुड़े मामलों के बारे में उन्‍हें बताया गया है। आने वाले पांच साल में हम देश के इन्‍फ्रास्‍ट्रक्‍चर को बदलने जा रहे हैं।
100 किलोमीटर प्रतिदिन सड़क बनाना उनका लक्ष्‍य
गडकरी ने कहा कि मुझे मेरा काम पता है और मैं इसे पूरी गति के साथ अंजाम दे रहा हूं। गडकरी ने कहा कि उनकी मिनिस्‍ट्री 31 मार्च तक प्रतिदिन 30 किलोमीटर सड़क निर्माण के लक्ष्‍य पर काम कर रही है। उनका लक्ष्‍य 100 किलोमीटर प्रतिदिन के महत्‍वाकांक्षी लक्ष्‍य को हासिल करना है।
दूसरी स्‍लाइड में जानें आने वाले बजट से गडकरी की क्‍या हैं उम्‍मीदें...
बजट से 15-20 हजार करोड़ के अतिरिक्त आवंटन की उम्मीद आने वाले बजट के बारे में उन्होंने कहा कि उन्हें उम्मीद है कि उनकी मिनिस्ट्री के लिए अधिक पैसे का आवंटन किया जाएगा। केंद्रीय बजट में उनकी मिनिस्ट्री के लिए 15-20 हजार करोड़ रुपए का अतिरिक्त आवंटन किया जा सकता है। वर्तमान वित्त वर्ष के लिए यह आवंटन 45 हजार करोड़ था। इनलैंड वाटरवेज की प्रगति से नाखुश गडकरी ने हालांकि इनलैंड वाटरवेज की प्रगति को उत्साहवर्धक नहीं बताया। उन्होंने कहा कि मेरी प्राथमिकता वाटरवेज है। रोड के लिए हमारे पास 45 हजार करोड़ का बजट है, लेकिन वाटरवेज के लिए हमारे पास महज एक हजार करोड़ का बजट है।
X

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.