• Home
  • You will get your Electricity bill on your mobile

2017 तक बदल जाएंगे बिजली के मीटर, मोबाइल एप पर मिलेगी डिटेल

एडवांस्डा मीटर एडवांस्डा मीटर
एडवांस्ड मीटर एडवांस्ड मीटर

राजू सजवान

Sep 25,2016 04:00:00 AM IST
नई दिल्‍ली। दिसंबर 2017 तक लगभग सभी घरों के बिजली की मीटर बदल जाएंगे। केंद्र सरकार ने सभी राज्‍यों को पत्र भेजकर कहा है कि वे मीटर बदलने की प्रक्रिया शुरू कर दें। ये मीटर एडवांस्‍ड होंगे, जिसमें प्री-पेड रिचार्ज के साथ साथ नेट मीटरिंग की भी सुविधाएं होंगी। इतना ही नहीं, एडवांस्‍ड मीटर में ऐसे साफ्टवेयर लगे होंगे, जिससे कंज्‍यूमर को उसके मोबाइल एप पर बिजली की खपत पूरी डिटेल मिल जाएगी। राज्‍यों से कहा गया है कि वे मीटर बदलने की पूरी स्‍ट्रेटजी तैयार करके केंद्र को अवगत कराएं।
क्‍या हैं एडवांस्‍ड मीटर के फीचर
केंद्र सरकार ने राज्‍यों से कहा है कि ए‍डवांस्‍ड मीटर में कुछ बेसिक फीचर होने जरूरी हैं।जैसे-
-रिमोट मीटर डाटा रीडिंग की सुविधा होनी चाहिए।
-टाइम ऑफ डे मीटरिंग ( अलग अलग समय की अलग अलग रीडिंग की सुविधा होनी चाहिए)
-प्री-पेड रिचार्ज की सुविधा होनी चाहिए, ताकि जो लोग बिल भरने से झंझट से बचना चाहें, बच सकते हैं।
-नेट मीटरिंग की भी सुविधा हो, ताकि सोलर प्‍लांट लगाने पर ग्रिड को सप्‍लाई की जाने वाली बिजली की बिलिंग की जा सके।
-मीटर में आईवीआरएस, बिलिंग एंड कलेक्‍शन सॉफ्टवेयर, जीआईएस मैपिंग, कंज्‍यूमर इंडेक्सिंग, न्‍यू कनेक्‍शन एंड डिस्‍कनेक्‍शन, एनालाइसिस सॉफ्टवेयर, आउटेज मैनेजमेंट सिस्‍टम इंटिग्रेटिड होना चाहिए।
- मीटर में सिक्‍योरिटी फीचर भी होंगे, जैसे कि मीटर से बाहरी छेड़छाड़ नहीं हो पाएगी।
मोबाइल एप पर मिलेगी डिटेल
केंद्र द्वारा जारी सकुर्लर में कहा गया है कि एडवांस्‍ड मीटरिंग इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर (एएमआई) इम्‍प्‍लीमेंटिंग एजेंसी को स्‍मार्ट मीटर में सॉफ्टवेयर और एक मोबाइल एप डेवलप करनी होगी, ताकि कंज्‍यूमर मोबाइल एप पर बिजली की खपत के साथ साथ बिजली का बिल, पीक लोड मैनेजमेंट और टैरिफ और इन्‍सेंटिव के बारे में भी जानकारी दी जा सके।
टैरिफ पॉलिसी में लिया गया था फैसला
जनवरी में केंद्र सरकार ने टैरिफ पॉलिसी लागू की थी, टैरिफ पॉ‍लिसी में घोषणा की गई थी कि देश में सभी मीटर को बदला जाएगा। दिसंबर 2017 तक महीने में 500 यूनिट खपत करने वाले उपभोक्‍ताओं के परिसर में स्‍मार्ट मीटर (एडवांस्‍ड) लगाए जाएंगे, जबकि 31 दिसंबर 2019 तक 200 यूनिट खपत करने वाले उपभोक्‍ताओं के परिसर में स्‍मार्ट मीटर लगा दिए जाएंगे। यहां यह उल्‍लेखनीय है कि देश में अधिकतर उपभोक्‍ता 500 यूनिट से अधिक बिजली की खपत करते हैं।
फीडर और ट्रांसफार्मर पर भी लगेंगे मीटर बिजली चोरी और लाइन लॉस वाले इलाकों की पहचान करने के लिए केंद्र सरकार ने राज्यों को स्पष्ट निर्देश दिए हैं। जून 2017 तक सभी ट्रांसफार्मर पर भी मीटर लगाए जाएंगे। सबस्टेशन से फीडर, फीडर से ट्रांसफार्मर और ट्रांसफार्मर से कंज्यूमर के मीटर तक सप्लाई का सही डाटा सामने आ सके। इससे यह पता चलेगा कि किस प्वाइंट पर लाइन लॉस हो रहा है। केंद्र ने नेशनल टैरिफ पॉलिसी के अलावा उदय ( उज्जवल डिस्कॉम्स एश्योरेंस योजना) में भी स्मार्ट मीटर लगाने का प्रावधान किया है। उदय में कहा गया है कि स्मार्ट मीटर लगने से डिस्कॉम्स के लॉस में काफी हद तक अंकुश लग जाएगा।
X
एडवांस्डा मीटरएडवांस्डा मीटर
एडवांस्ड मीटरएडवांस्ड मीटर

Money Bhaskar में आपका स्वागत है |

दिनभर की बड़ी खबरें जानने के लिए Allow करे..

Disclaimer:- Money Bhaskar has taken full care in researching and producing content for the portal. However, views expressed here are that of individual analysts. Money Bhaskar does not take responsibility for any gain or loss made on recommendations of analysts. Please consult your financial advisers before investing.