Home » Economy » InfrastructureRole of Vaypayee for nation

अटल की योजना ने दी थी अमेरिका-यूरोप को टक्कर, सड़कों की बदल दी थी सूरत

वाजपेयी ने 60 हजार करोड़ रु की स्‍वर्णिम चतुर्भुज परियोजना का किया था ऐलान

Role of Vaypayee for nation


नई दिल्‍ली. 24 अक्‍टूबर 1998 को तत्‍कालीन प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने स्‍वर्णिम चतुर्भुज राजमार्ग परियोजना की घोषणा की थी, जिसे उस समय की दुनिया की सबसे बड़ी हाईवे परियोजना माना जाता है। 5846 कि.मी. का स्वर्णिम चतुर्भुज (जीक्यू) राजमार्ग मूल रूप से राजमार्गों का एक नेटवर्क है, जो देश के चार प्रमुख महानगरों को चार दिशाओं – दिल्ली (उत्तर), चेन्नई (दक्षिण), कोलकाता (पूर्व) और मुंबई (पश्चिम) में जोड़ता है – जिससे एक चतुर्भुज बन जाता है और इसीलिए इसका नाम गोल्डन क्वाड्रिलेटरल (स्वर्णिम चतुर्भुज) है।

 

2001 में हुई शुरू 

इस महत्वाकांक्षी परियोजना का निर्माण कार्य आधिकारिक तौर पर 2001 में शुरू हुआ। इसके 2006 तक पूरा होने का अनुमान था, परन्तु यह वास्तव में जनवरी  2012  में पूरी हुई। स्वर्णिम चतुर्भुज परियोजना में नए एक्सप्रेस हाईवे का निर्माण शामिल है, जिसमें मौजूदा राजमार्गों के नवीनीकरण के लिए चार या छह लेन का विस्तार और मरम्मत शामिल है।

 

 

परियोजना से जुड़े प्रमुख शहर

स्वर्णिम चतुर्भुज भारत के प्रमुख शहरों के बीच कुशल परिवहन लिंक प्रदान करता है जैसे नई दिल्ली; जयपुर, उदयपुर, अजमेर (राजस्थान); अहमदाबाद, गांधीनगर (गुजरात); मथुरा, वाराणसी, आगरा, कानपुर (उत्तर प्रदेश); मुंबई और पुणे (महाराष्ट्र); बंगलुरू (कर्नाटक); विशाखापटट्नम (आंध्र प्रदेश); चेन्नई (तमिलनाडु); भुवनेश्वर (ओडिशा), कोलकाता (पश्चिम बंगाल) आदि।

 

 

स्वर्णिम चतुर्भुज के चारों खण्ड 

खण्ड-एक : यह राष्ट्रीय राजमार्ग 2 (एनएच 2) को दिल्ली से कोलकाता तक जोड़ता है। कुल विस्तार 1454 कि.मी. है दिल्ली, हरियाणा, उत्तर प्रदेश, बिहार, झारखंड और पश्चिम बंगाल जैसे राज्यों तक विस्तारित हैं। प्रमुख शहरों में दिल्ली, मथुरा, फरीदाबाद, आगरा, इलाहाबाद, फिरोजाबाद, कानपुर और वाराणसी शामिल हैं।
खण्ड दो : यह कोलकाता से चेन्नई, एनएच 60 (खड़गपुर से बालासोर) और एनएच 5 (बालासोर से चेन्नई) तक एनएच 6 को कवर करता है। कुल खंड विस्तार 1684 कि.मी. है। राज्यों में पश्चिम बंगाल, आंध्र प्रदेश, उड़ीसा और तमिलनाडु शामिल हैं।
खण्ड तीन : कुल विस्तार 1290 कि.मी. है इसमें एनएच 4 (मुंबई से बेंगलुरू), एनएच 7 (बेंगलुरू से कृष्णागिरि, तमिलनाडु) और एनएच 46 (कृष्णागिरी के पास चेन्नई) शामिल हैं। राज्यों में महाराष्ट्र, कर्नाटक, आंध्र प्रदेश और तमिलनाडु शामिल हैं।
खण्ड चार : राष्ट्रीय राजमार्ग 8 (दिल्ली से किशनगढ़), राष्ट्रीय राजमार्ग 79 ए (अजमेर बायपास), एनएच 79 (नसीराबाद से चित्तौड़गढ़) और एनए 76 (चित्तौड़गढ़ से उदयपुर) के कुछ हिस्सों को शामिल करता है, यह खंड विस्तार 149 कि.मी. है। राज्यों में महाराष्ट्र, गुजरात, राजस्थान, हरियाणा और नई दिल्ली शामिल हैं। दिल्ली, अजमेर, उदयपुर, गुरुग्राम, जयपुर, गांधीनगर, अहमदाबाद, वडोदरा, सूरत और मुंबई जैसे प्रमुख शहरों को जोड़ता है|

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट