बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Infrastructureभारत नेट: यूपी, महाराष्ट्र, राजस्थान सबसे आगे, 80 हजार गांव ब्रॉडबैंड के लिए तैयार

भारत नेट: यूपी, महाराष्ट्र, राजस्थान सबसे आगे, 80 हजार गांव ब्रॉडबैंड के लिए तैयार

भारत नेट प्रोजेक्ट के तहत 80 हजार गांव सर्विसेज के लिए तैयार हो गए हैं।

1 of

नई दिल्ली. गांवों में ब्रॉडबैंड पहुंचाने के लिए मोदी सरकार द्वारा चलाए जा रहे भारत नेट प्रोजेक्ट के तहत 80 हजार गांव सर्विसेज के लिए तैयार हो गए हैं। इनमें सबसे ज्यादा कनेक्टिविटी अभी तक उत्तर प्रदेश, महाराष्ट्र के गांवों में पहुंची है।

 

क्या है भारत नेट प्रोजेक्ट?

देश के मार्च 2019 तक देश की सभी ग्राम पंचायतों में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी पहुंचाने के लिए भारतनेट प्रोजेक्ट शुरू किया गया है। ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी पहुंचने के बाद हर गांव में कम से कम 100 एमबीपीएस की इंटरनेट स्पीड देगी। ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी के जरिए सरकार पंचायतों के माध्यम से ई-गवर्नेंस, ई-एजुकेशन, ई-हेल्थ जैसी सुविधाएं देना चाहती है।

 

80 हजार ग्राम पंचायतें तैयार

भारत ब्रॉडबैंड नेटवर्क लिमिटेड से मिली जानकारी के अनुसार 26 नवंबर तक 80 हजार ग्राम पंचायतों में ब्रॉडबैंड कनेक्टिविटी पहुंच चुकी है। जिसमें से करीब 25 फीसदी ग्राम पंचायतें उत्तर प्रदेश की हैं।

राज्य ग्राम पंचायतों में कनेक्टिविटी
यूपी 21341
महाराष्ट्र 11080
राजस्थान 6885
मध्यप्रदेश 6365
हरियाणा 5307

 

42,000 करोड़ का है कुल प्रोजेक्‍ट

भारतनेट प्रोजेक्‍ट की कुल लागत करीब 42 हजार करोड़ रुपए है। इसमें से 11,200 करोड़ रुपए फेज-1 के तहत इस्‍तेमाल किए जा चुके हैं। जबकि शेष 31 हजार करोड़ रुपए फेज-2 में यूज किए जाएंगे। देश में रूरल एक्‍सचेंज शुरू होने के बाद, जब टेलिकॉम सर्विसेज शुरू हुई थीं, यह सबसे बड़ा प्रोजेक्‍ट है। इस पूरे प्रोजेक्‍ट के लिए देश में बने प्रोडक्‍ट्स का इस्‍तेमाल होगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट