Home » Economy » InfrastructureSteel Ministry relief for Kerala flood affected with SAIL Salem Stainless steel

केरल बाढ़ : इस्पात मंत्रालय ने बढ़ाया मदद का हाथ, थाली-गिलास के सेट की पहली खेप भेजी

मंत्रालय की ओर से सेल-सेलम स्टेनलेस स्टील की 5000 थाली और गिलास के सेट की पहली खेप केरल के लिए रवाना कर दी गई है।

1 of
नई दिल्ली. केरल में आई बाढ़ ने न सिर्फ कई जिंदगियों को काल के गाल में पहुंचाया, बल्कि वहां के लोगों को विकास के मामले में भी कई साल पीछे धकेल दिया। ऐसे में हर कोई केरल की मदद करना चाहता है। यही कारण है कि देश के हर राज्य ने केरल को मदद के रूप में पैसे और जो सकता था मदद भेजी है। ऐसे में अब केंद्रीय इस्पात मंत्रालय की ओर से केरल की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। इसके तहत मंत्रालय की ओर से सेल-सेलम स्टेनलेस स्टील की थाली और गिलास सेट की पहली खेप केरल के लिए रवाना कर दी गई है। 
आगे पढ़ें : ऐसे मदद करेगा मंत्रालय  

20 हजार थाली और गिलास का सेट भेजेगा मंत्रालय 
 
केंद्रीय इस्पात मंत्री चौधरी बीरेंद्र सिंह के मार्गदर्शन में इस्पात मंत्रालय के प्रमुख सार्वजनिक उपक्रमों ने मिलकर केरल के बाढ़ प्रभावित लोगों की मदद के लिए हाथ बढ़ाया है। इसके तहत, स्टील अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (सेल) की ओर से 20,000 थाली और गिलास सेट की आपूर्ति करने की योजना है। ये थाली और गिलास सेट, सेल के सेलम स्टेनलेस स्टील से बने हैं। 
आगे पढ़ें : कमी पड़ी तो और मदद भी करेगा मंत्रालय 
कमी पड़ने पर और मदद को भी तैयार 
 
मंत्तारालय की ओर से तत्कालिक ज़रूरत को ध्यान में रखते हुए 29 अगस्त को ही 5000 थाली और गिलास के सेट केरल रवाना कर दिया है। वहीं, इस हफ्ते निर्धारित 20,000 थाली और गिलास सेट की पूरी खेप भेज दी जाएगी। इसके अलावा मंत्रालय की ओर से कहा गया है कि अगर इसके बाद और मदद की ज़रूरत होगी तो संयंत्र उसे पूरा करने के लिए पूरी तरह से तैयार है। 
आगे पढ़ें : अब तक मिल चुकी है इतनी मदद 
कुल कितनी मदद मिली 
 
केरल में जोर शोर से पीड़ितों के पुनर्वास के लिए काम चल रहा है और इसके लिए जिससे जितना हो सकती है वह मदद कर रहा है। केरल को देश भर से मदद मिल रही है इससे केरल मुख्यमंत्री राहत कोष में अब तक 1027 करोड़ रुपये जमा हो गए हैं। इसमें राज्य सरकारों, जनता, कॉरपोरेट्स और संगठन की ओर से दी गई सहायता राशि भी शामिल है। वहीं, केंद्र सरकार की ओर से 600 करोड़ रुपये की अग्रिम आर्थिक मदद की गई है। वह इस मुख्यमंत्री राहत कोष से अलग है। 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट