Home » Economy » InfrastructureSmart city Mission completed three year

Smart City Mission : 3 साल पूरे, अब तक 6% काम हो पाया पूरा

Smart City Mission के तहत 4790 प्रोजेक्‍ट्स का काम होना है, इनमें से केवल 318 प्रोजेक्‍ट्स ही पूरे हो पाए हैं

Smart city Mission completed three year

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ड्रीम स्‍मार्ट सिटीज मिशन को लॉन्‍च हुए पूरे तीन साल हो गए, लेकिन अब तक केवल 6 फीसदी ही काम पूरा हो पाया है। स्‍मार्ट सिटी मिशन के तहत 4790 प्रोजेक्‍ट्स का काम होना है, इनमें से केवल 318 प्रोजेक्‍ट्स ही पूरे हो पाए हैं। इतना ही नहीं, 1309 प्रोजेक्‍ट्स तो अब तक कागजों से बाहर ही नहीं निकल पाए हैं। यानी कि 3481 प्रोजेक्‍ट्स पर इम्‍प्‍लीमेंट की प्रोसेस शुरू हुई है। 

 

25 जून 2015 को हुआ था लॉन्‍च्‍ा 
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने चुनाव पूर्व घोषणा की थी कि देश के 100 शहरों को स्‍मार्ट बनाया जाएगा। इसके चलते प्रधानमंत्री ने एक भव्‍य कार्यक्रम में 25 जून 2015 को स्‍मार्ट सिटी मिशन लॉन्‍च किया। जिसे सोमवार को 3 साल पूरे होने हैं। उस समय दावा किया गया था कि 5 साल के भीतर ये शहर स्‍मार्ट बन जाएंगे। केंद्र ने इन शहरों को 500-500 करोड़ रुपए देने की घोषणा की थी। इसके बाद शहरों के चयन की प्रक्रिया शुरू हुई, जनवरी 2018 में 9 शहरों की घोषणा के साथ ही 99 शहरों की पहचान का काम पूरा कर लिया गया। 

 

केंद्र ने कितना पैसा जारी किया?  
केंद्रीय आवास एवं शहरी मामलों के मंत्रालय के अधिकारियों की हाल ही में हुई बैठक में स्‍मार्ट सिटी मिशन के आठ जून 2018 तक का स्‍टेटस पेश किया गया। इसके मुताबिक, केंद्र सरकार द्वारा अब तक 10 हजार 459 करोड़ रुपए जारी किए गए हैं। इनमें से साल 2015-16 में 1469 करोड़, 2016-17 में 4493 करोड़ रुपए, 2017-18 में 4497 करोड़ रुपए जारी किए गए। केंद्र के मुताबिक, हर शहर की स्‍पेशल परपज व्‍हीकल (एसपीवी) को 200-200 करोड़ रुपए दे दिए गए हैं। 
क्‍या है टारगेट? 
बैठक में पेश किए गए प्रजेंटेशन के मुताबिक, इन 99 शहरों में  2.04 लाख रुपए के इन्‍वेस्‍टमेंट से 4790 प्रोजेक्‍ट्स पूरे होने हैं। मिनिस्‍ट्री की ओर से टारगेट रखा गया है कि जनवरी 2016 में घोषित 20 श्‍हारों में 829 प्रोजेक्‍ट जनवरी 2021 में पूरे होंगे। इसी तरह, सितंबर 2016 में घोषित 40 शहरों में 1809 प्रोजेक्‍ट सितंबर 20121 में पूरे होंगे। जबकि जुलाई 2017 में घोषित 30 शहरों में 1890 प्रोजेक्‍ट्स जुलाई 2022 और जनवरी 2018 में घोषित 9 शहरों में 262 प्रोजेक्‍ट जनवरी 2023 में पूरे होंगे। 

 

क्‍या है स्‍टेटस? 
अधिकारियों ने बताया कि आठ जून तक 5249 करोड़ रुपए की लागत के 318 प्रोजेक्‍ट्स पूरे हो गए हैं। जबकि 25638 करोड़ रुपए के 635 प्रोजेक्‍ट्स का काम चल रहा है और 19162 करोड़ रुपए के 410 प्रोजेक्‍ट्स की टेंडर की प्रक्रिया चल रही है। इसके अलावा 1.54 लाख रुपए के 3481 प्रोजेक्‍ट्स पर इम्‍प्‍लीमिटेशन शुरू हो चुका है। यानी कि, 1309 प्रोजेक्‍ट्स अभी स्‍मार्ट सिटी प्रपोजल से बाहर नहीं निकल पाए हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट