Advertisement
Home » इकोनॉमी » इंफ्रास्ट्रक्चरbye bye 2018: what is status of Saubhgya Scheme

यूपी-बिहार सहित 25 राज्यों में हर घर हुआ रोशन, मोदी ने किया यह वादा पूरा

14 माह में 2.38 करोड़ घरों में पहुंचाई बिजली, 10 लाख घर शेष

bye bye 2018: what is status of Saubhgya Scheme
 
 
नई दिल्ली. पिछले साल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दावा किया था कि 31 दिसंबर 2018 में हर घर तक बिजली पहुंच जाएगी। आज 31 दिसंबर  है और केवल 10 लाख घर ऐसे बचे हैं, जहां बिजली पहुंचनी शेष है। बाकी लगभग 25 राज्यों में 100 फीसदी घरों तक बिजली पहुंच गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का यह वादा लगभग पूरा हो चुका है। दिलचस्प बात यह है कि मोदी सरकार बड़े राज्यों में शामिल उत्तर प्रदेश, बिहार जैसे राज्यों में हर घर तक बिजली पहुंचाने में सरकार कामयाब रही है। आइए जानते हैं, किन राज्यों में कितने कनेक्शन दिए गए हैं और कितने बचे हैं। 

 
क्या है वादा 
सितंबर 2017 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वादा किया था कि देश के जितने भी घरों में बिजली नहीं है, वहां 31 मार्च 2019 तक बिजली पहुंचा दी जाएगी। हालांकि बाद में कहा गया कि इस योजना को 31 दिसंबर 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा। इस योजना का नाम प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना - सौभाग्य रखा गया। 
 
अब तक कितना हुआ काम 
इस योजना की मॉनिटरिंग के लिए बनाए गए रियल टाइम पोर्टल http://saubhagya.gov.in/ के मुताबिक, यह स्कीम 11 अक्टूबर 2017 से शुरू हुई। इस दिन तक देश में 2 करोड़ 49 लाख 54516 घरों में बिजली नहीं थी। आज यानी 31 दिसंबर 2018 तक 23886356 घरों तक बिजली पहुंच चुकी है। केवल 1068160 घरों में बिजली नहीं पहुंची है। 
 
इन बड़े राज्यों में 100 फीसदी टारगेट पूरा 
25 से अधिक राज्यों में सरकार ने 100 फीसदी टारगेट पूरा कर लिया है। जानते हैं किस राज्य में कितने घरों तक पहुंची बिजली 
उत्तर प्रदेश : 7404381 : टारगेट पूरा 
महाराष्ट्र : 1096642 :  टारगेट पूरा 
बिहार : 3259041 : टारगेट पूरा 
मध्यप्रदेश : 1984264 : टारगेट पूरा 
झारखंड : 1354007 : टारगेट पूरा 
पश्चिम बंगाल : 732290 : टारगेट पूरा 
गुजरात : 41317 : टारगेट पूरा 
आंध्रप्रदेश : 156078 : टारगेट पूरा 
ओडिशा : 2398475: टारगेट पूरा 
 
इन राज्यों में है काम अधूरा 
कुछ राज्यों में अभी बिजली पहुंचनी बाकी है। आइए, जानते हैं कौन से ये राज्य - 
राज्य  : शेष घर 
आसाम : 560251 
छतीसगढ़ : 36714
राजस्थान : 318166
कर्नाटक : 19418
मेघालय : 133468
अरुणाचल प्रदेश : 143 
 
स्त्रोत : http://saubhagya.gov.in/

Advertisement

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement
Don't Miss