Home » Economy » InfrastructureRail accidents reduced in FY 2017-18

रेलवे ने 2017-18 में बिछाई 4405 किमी नई पटरियां, 57 साल में सबसे कम हादसों का दावा

रेलवे ने साल 2017-18 में रिकॉर्ड 4405 किलोमीटर लम्‍बी नई रेल पटरियां बिछाई

1 of

नई दिल्‍ली। रेलवे ने साल 2017-18 में रिकॉर्ड 4405 किलोमीटर लम्‍बी नई रेल पटरियां बिछाई, जबकि इससे पहले 2004-05 में सबसे अधिक 4,175 किमी पटरी का नवीनीकरण किया गया था। रेलवे ने कहा कि फाइनेंशियल ईयर 2018-19 में 4400 किलोमीटर नई पटरियां बिछाई जाएंगी। रेलवे ने कहा कि पटरियां बदलने के कारण एक्‍सीडेंट्स में भी रिकॉर्ड कमी आई है। 

 

एक्‍सीडेंट में आई कमी 
रेलवे का सुरक्षा रिकॉर्ड पिछले पांच दशक से ज्यादा अवधि में वित्त वर्ष 2017-18 में सबसे बेहतर रहा है। 30 मार्च तक के आंकड़ों के मुताबिक 2017-18 में पूरे रेल नेटवर्क में 73 हादसे हुए, जो 57 सालों में सबसे कम है। इससे पहले के वित्त वर्ष में 104 हादसे हुए थे। यह भी उल्लेखनीय है कि इस वर्ष में ट्रेनों ने पिछले पांच की तुलना में 7.4 करोड़ किमी की अधिक दूरी तय की। इसके बावजूद हादसे कम हुए। 

 

सबसे अधिक दूरी तय की 
इस वित्तीय वर्ष में ट्रेनों द्वारा अब तक सबसे अधिक दूरी तय करने का भी एक रिकॉर्ड बना। 1960-61 में ट्रेनों ने कुल 38.81 करोड़ किमी की दूरी तय की, जबकि 2017-18 में ट्रेनों ने कुल 1 अरब, 17 करोड़, 70 लाख किमी की दूरी तय की। हताहतों की संख्या में भी कमी आई है। 2016-17 में हादसों में 607 लोग घायल हुए या मारे गए थे, जबकि 2017-18 में यह आंकड़ा 254 रहा। 

 

यह है वजह 

रेल मंत्रालय के सीनियर अधिकारी ने कहा, ‘बेहतरी का मुख्य कारण रेल पटरियों को फिर से नया करना है। रेलवे ने 2017-18 में पुरानी पटरियों को हटा कर 4,405 किमी नई पटरी बिछाई हैं। यह रेल नवीकरण की सबसे अधिक प्रगति है और साल के लिए तय किए गए 4,400 किमी के लक्ष्य से अधिक है।’  

 

डिरेलमेंट कम हुई 
ट्रेनों के डिरेलमेंट होने के हादसे 2016-17 के 78 से घटकर 2017-18 में 54 रहे। वहीं लेवल क्रॉसिंग के मामले 30 से घटकर 13 पर रहे।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट