Home » Economy » Infrastructureगार्ड नहीं ETOT तकनीक से चलेंगी ट्रेन, Now ETOT techniq will run trains

बिना गार्ड के चलेगी ट्रेन, 1000 ट्रेनों के लिए रेलवे ने जारी किया ग्‍लोबल टेंडर

आने वाले दिनों में गार्ड के बिना ट्रेन चलेंगी। इसके लिए रेलवे एक नई तकनीक का सहारा लेगा।

1 of

नई दिल्‍ली। आने वाले दिनों में गार्ड के बिना ट्रेन चलेंगी। इसके लिए रेलवे एक नई तकनीक का सहारा लेगा। पहले चरण में यह तकनीक 1000 गुड्स ट्रेन में लगाई जाएगी। इसके लिए रेलवे ने एक ग्‍लोबल टेंडर जारी किया है। टेंडर 14 फरवरी 2018 को खुलेगा। रेलवे अधिकारियों का कहना है कि अगले साल यह तकनीक गुड्स ट्रेन में लगनी शुरू हो जाएगी। 

 

क्‍या है नई तकनीक 
इस तकनीक को एंड टू ट्रेन एलिमेटरी (ईओटीटी) नाम दिया गया है।  ईओटीटी नाम का यह उपकरण ट्रेन के अंतिम छोर पर स्थित गार्ड यान (ब्रेक यान) में ही लगाया जाएगा। उपकरण एक कम्यूनिकेशन सिस्टम के तहत काम करेगा, जो गुड्स ट्रेन के आगे इंजन से लगाए गए अंतिम छोर के डिब्बे तक जुड़ा रहेगा। पूरी गुड्स ट्रेन की एक-एक पल की गतिविधि उपकरण में दर्ज होती रहेगी और उसी के अनुसार वह काम करेगा। 

 

ग्रीन सिग्‍नल से चलेगी ट्रेन
प्लेटफार्म से गुड्स ट्रेन के रवाना होने से पहले ईओटीटी ब्रेक पाइप प्रेशर आदि को चेक करेगा और उसके बाद लोको पायलटों को ग्रीन सिग्नल देगा। आगे सिग्नल मिलने के बाद संतुष्ट होने पर लोको पायलट गुड्स ट्रेन को शुरू कर देंगे। इसके बाद उपकरण लगातार लोको पायलट और कंट्रोल के संपर्क में रहेगा। सूचनाओं का आदान-प्रदान करने के साथ ही सेफ्टी की भी निगरानी करेगा। समय- समय पर ब्रेक पाइप प्रेशर को चेक करता रहेगा। समय पर प्रेशर का भी उपयोग करता रहेगा।

 

खतरे की देगा जानकारी 
ईओटीटी विशेष परिस्थिति में या ट्रेन के दो भाग में बंट जाने पर लोको पायलट और कंट्रोल को सूचित करेगा। यानी, पूरी तरह गार्ड की भूमिका निभाएगा। सिस्टम की सफलता के बाद आने वाले दिनों में भारतीय रेल की सभी गुड्स ट्रेन में यह उपकरण लगा दिए जाएंगे।

 

सवारी ट्रेनों में भी होगा परीक्षण 
रेलवे के एक अधिकारी ने बताया कि अगर गुड्स ट्रेन में ईओटीटी तकनीक पूरी तरह सफल रहती है तो इसे बाद में सवारी ट्रेनों में भी शुरू किया जाएगा। लेकिन इससे पहले गुड्स ट्रेन में इसका अच्‍छे से ट्रायल लिया जाएगा और पूरे सिस्‍टम पर गहराई से नजर रखी जाएगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट