Home » Economy » Infrastructureजोजिला टनल जम्‍मू कश्‍मीर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी Modi lays foundation stones for Rs 10K cr projects in Jammu Kashmir

PM मोदी ने J&K में किया जोजिला टनल का शिलान्यास, निर्माण पर 6800 Cr रु होंगे खर्च

प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी शनिवार को जम्मू-कश्मीर में एशिया की सबसे लंबी जोजिला टनल का फाउंडेशन स्‍टोन रखा।

1 of

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को जम्मू-कश्मीर में लेह-लद्दाख क्षेत्र से जोड़ने वाली एशिया की सबसे लंबी टू-लेन जोजिला सुरंग परियोजना का शिलान्यास किया।  इस सुरंग की लंबाई कुल 14 किलोमीटर होगी, इस पर लगभग 6,800 करोड़ रुपए खर्च होंगे। टनल के बनने के बाद जो रास्ता 3.5 घटे में तय होता था, माना जा रहा है कि वह 15 मिनट में तय हो जाएगा। इसके अलावा प्रधानमंत्री श्रीनगर और जम्मू में रिंग रोड प्रोजेक्‍ट्स का भी शिलान्यास करेंगे। इन पर लगभग लगभग 3,884 करोड़ रुपए की लागत का अनुमान है। कार्यक्रम में सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी भी  मौजूद थे। 

 

 

लेह की इकोनॉमी को ताकत मिलेगी

इस मौको पर पीएम मोदी ने कहा कि  मोदी ने कहा कि केंद्र की योजनाओं से इस क्षेत्र की इकोनॉमी को नई ताकत मिलेगी। जोजिला टनल प्रोजेक्ट उन्नत टेक्नोलॉजी का भी बड़ा उदाहरण है। मुझे बताया गया कि टनल में सात कुतुबमीनार ऊंचाई वाली व्यवस्था बनाई गई है ताकि अंदर की हवा शुद्ध रह सके। मोदी ने इस मौके पर लेह के आध्‍यात्मिक गुरु कुशक बकुला का भी जिक्र किया। 

 

 

15 मिनट में तय होगा 3.5 घंटे का सफर 
यह टनल श्रीनगर, कारगिल और लेह के बीच ऑल वेदर कनेक्टिविटी प्रदान करेगी, क्योंकि यह मार्ग साल में ज्‍यादातर बर्फ से ढका रहता है और यहां अक्सर हिमस्खलन होता रहता है। रोड ट्रांसपोर्ट एवं हाईवे मिनिस्‍ट्री की ओर से जारी बयान में कहा गया कि यह ज़ोजिला टनल 3.5 घंटे के सफर को केवल 15 मिनट में पूरा कर देगी। इसके अलावा यात्रा को अधिक सुरक्षित और सुविधाजनक बना देगी। 

 

CCEA ने दी थी मंजूरी 
प्रधान मंत्री की अध्यक्षता में आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी ने एनएच -1 ए के श्रीनगर-लेह सेक्शन पर बालताल और मिनमार्ग के बीच समानांतर एस्केप (एश्रेस) सुरंग के साथ इस 2-लेन जोजिला सुरंग के कंस्‍ट्रक्‍शन, संचालन और रखरखाव को मंजूरी दी थी। 

 

क्षेत्र के लोगों को मिलेगी राहत 
सरकार ने कहा कि इस टनल का निर्माण इस क्षेत्र के लोगों को बहुत राहत प्रदान करेगा। भारी बर्फबारी और लद्दाख क्षेत्र में स्थानों के लिए रोड कनेक्शन लंबे समय तक बाधित हो जाता है, जिससे लोगों को पहुंचने में दिक्‍कत होती है। बिजनेस को बंद करना पड़ता है। ईलाज और शिक्षा में दिक्‍कत होती है। 

 

टनल में ये होंगी सुविधाएं 
जोजिला टनल में सभी आधुनिक सुरक्षा मानकों और सुविधाओं का ध्‍यान रखा जाएगा। इसमें ट्रांसवर्स वेंटिलेशल प्रणाली के साथ, अबाधित बिजली आपूर्ति, सुरंग में एमरजेंसी में लाइट की सुविधा, सीसीटीवी से रिकॉर्डिंग, अधिक ऊंचाई के वाहनों की पहचान, सुरंग रेडियो प्रणाली, ट्रैफिक जाम से जुड़े उपकरण और कई तरह के संदेश संकेतक लगाए जाएंगे। इसमें हर 250 मीटर पर पैदल पारपथ, हर 750 मीटर पर वाहन पारपथ और किनारे खड़े होने की सुविधा भी होगी। साथ ही हर 125 मीटर पर इसमें आपात टेलिफोन और अग्निशमन उपकरणों की भी सुविधा होगी।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट