विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureIndian Railway : What is Fly Ash of Thermal Power Plant

अब ट्रेन से जाएगी राख, एनटीपीसी व रेलवे के बीच हुआ समझौता 

थर्मल प्लांट से निकलने वाली Fly-ash का होगा उपयोग 

Indian Railway : What is Fly Ash of Thermal Power Plant


नई दिल्ली. 
सार्वजनिक क्षेत्र की एनटीपीसी (NTPC) ने बृहस्पतिवार को कहा कि उसने बिजलीघर (Power Plant) से निकलने वाली राख (Fly Ash) के परिवहन के लिये रेलवे (Railway) के साथ गठजोड़ किया है। इस कदम से रिहंद तथा विंध्याचल तापीय बिजलीघर से निकलने वाली राख के बेहतर उपयोग में मदद मिलेगी।
 

पूर्वी मध्य रेलवे जोन के साथ समझौता 
एनटीपीसी ने भारतीय रेलवे के विशेष माल भाड़ा ट्रेन परिचालन (एसएफटीओ) के तहत बिजलीघरों से निकलने वाली राख (फ्लाई एश) के परिवहन के लिये पूर्वी मध्य रेलवे जोन के साथ समझौता ज्ञापन पर दस्तखत किये हैं। पूर्वी मध्य रेलवे का मुख्यालय बिहार के हाजीपुर में है।

एनटीपीसी बनी पहली कंपनी 
बिजली कंपनी के बयान के अनुसार एनटीपीसी पहली कंपनी है जिसने भारतीय रेलवे के साथ एसएफटीओ समझौता किया है।    एनटीपीसी के कार्यकारी निदेशक पी के सिन्हा ने कहा, ‘‘कंपनी में राख का बेहतर उपयोग उन क्षेत्रों में शामिल है जिस पर विशेष ध्यान दिया जाता रहा है। यह पर्यावरण संरक्षण के प्रति हमारी प्रतिबद्धता का हिस्सा है। राख को अब जिंस के रूप में देखा जा रहा है और दीर्घकाल में यह कंपनी के लिये सतत आय का जरिया हो सकती है।’’

इन प्लांट्स से निकलेगी राख 
भारतीय रेलवे के साथ ‘फ्लाई एश’ के परिवहन के लिये समझौते से रिहंद और विंध्याचल तापीय बिजलीघर से निकलने वाली राख के उपयोग में मदद मिलेगी। बाद में इसमें एनटीपीसी के दूसरे बिजलीघरों को इसमें शामिल किया जाएगा। सिन्हा ने कहा, ‘‘भारतीय रेलवे के पास कम लागत में थोक में राख परिवहन की क्षमता है। इसीलिए हमने उसे चुना है।’’क्षेत्रीय कार्यकारी निदेशक (उत्तरी क्षेत्र) के के सिंह ने कंपनी की तरफ से पटना में समझौते पर हस्ताक्षर किये।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन