विज्ञापन
Home » Economy » Infrastructurenext vande bharat express will run after election

चुनाव के बाद इन रूट पर चलेगी वंदे भारत, यात्रियों की सहूलियत के लिए होंगे ये अहम बदलाव

ट्रेन को अब 500 किलोमीटर या उससे कम दूरी वाले शताब्दी रूट पर ही चलाया जाएगा

1 of

नई दिल्ली। दिल्ली और वाराणसी रूट पर सबसे तेज रफ्तार ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस (Train-18) अब जल्द ही अन्य रूट्स पर भी चलेगी। रेलवे बोर्ड की ओर से वंदे भारत के अगले सेट्स के उत्पादन के लिए निर्धारित योजना में अप्रैल में किसी सेट की निकासी का कोई प्रस्ताव नहीं है। इसके बजाय अगले सेट को जून में भेजे जाने का जिक्र है। इससे स्पष्ट है कि अगली वंदे भारत अब जून- जुलाई में ही चल पाएगी।

इन रूटों पर भी चल सकती है ट्रेन

चूंकि इस ट्रेन से यात्रा करना काफी महंगा है इसलिए उम्मीद है कि पहले उन रूटों पर यह ट्रेन चलेगी जिन रूट पर यात्री ज्यादा हैं और ट्रेन कम है। वंदे भारत के लिए जिन अन्य रूटों की चर्चा है उनमें दिल्ली-चंडीगढ़, दिल्ली-जयपुर, दिल्ली-भोपाल के अलावा चेन्नई-मंगलूर और हैदराबाद-मंगलूर रूट शामिल हैं।

रेलवे बोर्ड के एक अधिकारी के मुताबिक वंदे भारत के अगले रूट दिल्ली-वाराणसी रूट जितने लंबे नहीं होंगे, जिसकी लंबाई 700 किलोमीटर से अधिक है। इसके बजाय इस ट्रेन को अब 500 किलोमीटर या उससे कम दूरी वाले शताब्दी रूटों पर चलाया जाएगा। इसकी वजह ये है कि सामान्यतया यात्री छह घंटे से ज्यादा बैठकर सफर करना पसंद नहीं करते। जबकि दिल्ली-वाराणसी के सफर में आठ घंटे बैठना पड़ता है।

होंगे ये नए सेट्स

वंदे भारत के नए ट्रेन सेट्स मौजूदा ट्रेन के मुकाबले कई मायनों में अलग व बेहतर होंगे। मसलन, इनकी सीटों को शताब्दी की सीटों की भांति ज्यादा पीछे की ओर झुकाना संभव होगा। इनमें खाना रखने की जगह भी ज्यादा होगी। इसके अलावा इनके बाहरी ऑटोमैटिक दरवाजों के जाम होने की स्थिति में मैन्युअली खोलने के उपाय भी किए जा रहे हैं।

 

देश के दूसरे रूट पर भी चलाया जाएगा

 

बता दें कि हाल ही में रेलमंत्री पीयूष गोयल ने फरवरी में ट्वीट कर कहा था कि अगली वंदे भारत जल्द ही बंगलूर से मंगलूर के बीच चलेगी। इस हिसाब से इसके मार्च के पहले हफ्ते में चलाए जाने के कयास लगाए गए थे, लेकिन उससे पहले ही चुनावों का एलान होने के कारण आचार संहिता लागू होने से वो योजना खटाई में पड़ गई। जल्द ही ट्रेन-18 को देश के दूसरे रूट पर भी चलाया जाएगा। उन्होंने कहा था कि इस तरह की 30 और ट्रेन बनाने की टेंडरिंग जारी करने की तैयारी की जा रही है। 


 

 दूसरा सेट जून में आएगा

 

वंदे भारत का निर्माण चेन्नई की इंटीग्रल कोच फैक्ट्री (आइसीएफ) में हो रहा है। जहां इसके कुल 45 से तैयार किए जाने की तैयारी है। एक सेट पहले ही बाहर आ चुका है। दूसरा सेट जून में आएगा। जबकि तीसरे सेट के अक्टूबर में फैक्ट्री से निकलने की संभावना है। इसके बाद हर महीने वंदे भारत का एक सेट बाहर निकलेगा।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन