Home » Economy » Infrastructureदिल्‍ली एनसीआर के बीच रैपिड रेल कॉरिडोर की तैयारियां शुरू

रैपिड रेल कोरिडोर पर इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर कंपनियों ने दिखाई रूचि

दिल्‍ली एनसीआर के बीच बनने वाले रैपिड रेल कॉरिडोर को लेकर इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर कंपनियों में खासा उत्‍साह है

दिल्‍ली एनसीआर के बीच रैपिड रेल कॉरिडोर की तैयारियां शुरू

नई दिल्ली। दिल्‍ली एनसीआर के बीच बनने वाले रैपिड रेल कॉरिडोर को लेकर इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर कंपनियों में खासा उत्‍साह है। बृहस्‍पतिवार को एनसीआर ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन की ओर से आयोजित कंसलटेशन विद कंस्‍ट्रक्‍शन पार्टर्नस में देश के कई नामी कंपनियों ने शिरकत की और प्रोजेक्‍ट्स के बारे में विस्‍तार से बातचीत की। 

 

बैठक की अध्‍यक्षता एनसीआरटीसी के एमडी विनय कुमार सिंह ने की। बैठक में एलएंडटी, एफकॉन, इरकॉन, आईएलएंडएफएस, टाटा प्रोजेक्‍ट्स, रिलायंस इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर लिमिटेड, एचसीसी, आईटीडी, जीपीटी इंफ्रा प्रोजेक्‍ट्स, एसएएम इंडिया और रणजीत बिल्‍डकॉन के अधिकारी उपिस्‍थत रहे। 

 

इस मौके पर विनय कुमार सिंह ने बताया कि कॉरिडोर में दौड़ने वाली हाई स्पीड रेल दिल्ली-मेरठ गलियारे में पांच मिनट के अंतराल पर उपलब्ध रहेगी। इस तरह की कई अन्य सुविधाओं से लैस यह ट्रेन आने वाले समय में दिल्ली-एनसीआर में परिवहन की नई परिभाषा गढ़ेगी और लोगों को सुविधाजनक सफर मुहैया कराएगी। इसमें इंफ्रास्ट्रक्चर पार्टनर की भूमिका को नजरंदाज नहीं किया जा सकता है। क्योंकि बुनियादी ढांचा तैयार करने में यह महत्वपूर्ण रहेंगे। 

 

उन्होंने कहा कि यह  अपने आप में पहला अनूठा कार्य होगा, जो दिल्ली-एनसीआर की दूरी को बेहद कम कर देगा। चंद समय में लोग मेरठ, अलवर व पानीपत से दिल्ली पहुंच सकेंगे। यह ट्रेन पांच मिनट के अंतराल पर उपलब्ध होगी। निश्चित तौर पर यह तकनीक का विशेष नमूना भी होगा। 


गौरतलब है कि दिल्‍ली एनसीआर के बीच दिल्‍ली-मेरठ, दिल्‍ली-अलवर और दिल्‍ली-पानीपत कॉरिडोर को मंजूरी मिल चुकी है। इसमें दिल्ली-मेरठ गलियारे में तेजी से निर्माण कार्य शुरू करने के लिए एनसीआर प्लानिंग बोर्ड की बैठक में केंद्रीय मंत्री हरदीप पुरी ने निर्देश भी दिये हैं। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट