Home » Economy » Infrastructurerecord low solar power tariff

1.38 रु/यूनिट पर मिलेगी सोलर पावर, रिकॉर्ड लो लेवल पर पहुंचा टैरिफ

MP में सरकारी बिल्डिंग्स पर लगेंगे रूफटॉप सोलर प्लांट

record low solar power tariff

नई दिल्ली. भारत में सोलर पावर की तेजी से गिरती कीमत में एक और अध्याय जुड़ गया है। शुक्रवार को एक कंपनी ने मध्यप्रदेश में सरकारी बिल्डिंग पर रूफटॉप सोलर प्लांट लगाकर 1 रुपए 38 पैसे प्रित यूनट की दर से बिजली सप्लाई करने को कहा है। मघ्यप्रदेश ऊर्जा विकास निगम (MPUVN) द्वारा यह टेंडर इनवाइट किया गया था। यहां रिन्यूएबल एनर्जी सर्विस कंपनी (RESCO) मॉडल पर सोलर प्लांट लगाए जाने हैं। 

 

मेडिकल कॉलेजों को भी होगा फायदा 
MPUVN द्वारा जारी बयान में बताया गया है कि निगम ने पिछले दिनों राज्य में स्थित  केंद्र सरकार की बिल्डिंग्स की छत पर सोलर प्लांट्स लगाने का टेंडर जारी किया गया था। इसके साथ ही राज्य के मेडिकल कॉलेजों की छत पर सोलर प्लांट लगाने के टेंडर भी थे। केंद्र सरकार की बिल्डिंग्स पर 1.38 रुपए प्रति यूनिट का टैरिफ कोट किया गया है, जबकि राज्य सरकार के मेडिकल कॉलेजों के लिए 1.63 रुपए प्रति यूनिट का रेट कोट किया गया है। 

 

हर साल होगी 3 फीसदी वृदि्ध 
जो रेट कोट किए गए हैं, वह पहले साल के लिए है। इसके बाद टेंडर हासिल करने वाली कंपनियां हर साल 3 फीसदी की वृदि्ध कर सकेंगी। इस तरह ये कंपिनयां 25 साल में लगभग दो गुणा रेट चार्ज करेंगी। यह टेंडर 25 साल के लिए हैं। 

 

एक चौथाई कम होंगे बिजली के बिल 
बयान में कहा गया है कि कंज्यूमर्स द्वारा अभी बिजली का जो रेट दिया जा रहा है। उसके मुकाबले सोलर पावर के यह रेट एक चौथाई होंगे। जो बिजली का बिल कम करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगे। 


क्या है RESCO मॉडल 
RESCO मॉडल के तहत सोलर एनर्जी कंपनी किसी भी बिल्डिंग पर फ्री में सोलर प्लांट लगाती है और उसके बाद काफी कम कीमत पर बिजली का बिल वसूलती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट