बिज़नेस न्यूज़ » Economy » InfrastructureUDAY का दिखने लगा असर, DISCOM का लॉस हुआ कम

UDAY का दिखने लगा असर, DISCOM का लॉस हुआ कम

मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई UDAY स्‍कीम का असर दिखने लगा है

Discom losses down by 70 percent is success of UDAY scheme

नई दिल्‍ली. बिजली वितरण कंपनियों (Discom) की फाइनेशियल हेल्‍थ को सुधारने के लिए मोदी सरकार द्वारा शुरू की गई उज्‍जवल डिस्‍कॉम्‍स एश्‍योरेंस योजना (UDAY) का असर दिखने लगा है। ड्यूश बैंक मार्केट रिसर्च रिपोर्ट के अनुसार, उदय की वजह से पिछले दो सालों में बिजली कंपनियों के सालाना लॉस में 70 फीसदी की कमी आई है, जो लगभग 17 हजार करोड़ रुपए है। रिपोर्ट के मुताबिक, इस योजना के चलते बिजली का कंपनियों का लाइन लॉस (बिजली चोरी) में 5 फीसदी की कमी आई है। 

 

एसीएस और एआरआर का अंतर घटा 
रिपोर्ट में कहा गया है कि हालांकि उदय योजना का जो टारगेट रखा गया था, उसके हिसाब से अचीवमेंट नहीं हो पाई है, बावजूद इसके कई परिणाम उत्‍साहजनक हैं। इसके अलावा एसीएस (बिजली की आपूर्ति की वास्तविक लागत) और एआरआर (लागत और टैरिफ दर) के बीच का अंतर घटकर 0.24 रुपए प्रति किलोवाट हो गया है, जिसमें पिछले दो साल में 57 प्रतिशत की कमी रिकॉर्ड की गई है।

 

60 हजार करोड़ का हो रहा था लॉस 
सरकार ने नवंबर 2015 में बिजली वितरण क्षेत्र के लिए उदय योजला लॉन्च की थी। उस समय बिजली कंपनियों को सालाना औसतन 60 हजार करोड़ का लॉस हो रहा था, जो कुल 4.3 लाख करोड़ रुपए पहुंच गया था। 

 

ये राज्‍य रहे आगे 
स्‍टडी के मुताबिक, शीर्ष 5 राज्यों ने 2016-17 में 2017-18 में एटीसी घाटे में अधिकतम कमी देखी गई। उनमें मणिपुर, जम्मू-कश्मीर, असम, राजस्थान और बिहार, जबकि निचले स्‍तर पर रहने वाले राज्‍यों में मिजोरम, मध्य प्रदेश, पंजाब, त्रिपुरा और उत्तराखंड शामिल हैं। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट