Home » Economy » Infrastructureknow about the longest sea bridge of the world

24 अक्टूबर से शुरू होगा समंदर पर बना दुनिया का सबसे लंबा ब्रिज, Hong Kong–China–Macau को जोड़ेगा

longest sea bridge of world : 4.20 लाख टन स्टील से निर्मित इस ब्रिज से रोज गुजरेंगे 40,000 व्हीकल

1 of

नई दिल्ली। चीन अपनी अद्भुत इमारतों और बेजोड़ निर्माण परियोजनाओं के लिए जाना जाता है। दुनिया का सबसे बड़ा टेलीस्कोप यहीं है, मॉल यहीं है, दुनिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट यहां बन रहा है। अब इस सूची में दुनिया का सबसे बड़ा sea bridge भी शामिल होने जा रहा है। 55 किमी लंबा यह ब्रिज दक्षिण चीन में बहने वाली पर्ल नदी के डेल्टा पर स्थित हांगकांग, झुहाई और मकाऊ को जोड़ेगा। इसका निर्माण दिसंबर, 2009 में शुरू हुआ था और अब लगभग नौ साल बाद इसे 24 अक्टूबर को लोगों के लिए खोला जाएगा।

 

आधा रह जाएगा ट्रैवल टाइम
इस ब्रिज के चलते हांगकांग से मकाऊ के बीच आने जाने का समय आधा रह जाएगा। एक किनारे से दूसरे किनारे जाने में लोगों को सिर्फ एक घंटे का समय लगेगा। रोजाना इसपर से 40,000 वाहन गुजरेंगे, जिनमें शटल बसें भी शामिल होंगी। इसे देश का बड़ा ट्रांसपोर्टेशन प्रोजेक्ट कहा जा रहा है।

 

बड़ी परियोजना, बड़ी लागत


इस परियोजना की अनुमानित लागत 15 अरब डॉलर बताई जाती है। इसे बनाने में 4,20,000 टन स्टील का इस्तेमाल किया गया है। इतनी स्टील से 60 Eiffel Tower बनाए जा सकते हैं। चीनी अधिकारियों का कहना है कि यह ब्रिज 120 वर्षों तक सही सलामत रहेगा। इस ब्रिज में छह लेन और चार टनल हैं, जिनमें से एक पानी के नीचे बनाया गया है। इस पूरे स्ट्रक्चर को सपोर्ट करने के लिए चीन ने समंदर में चार artificial islands भी बनाए हैं। इसे ऐसे डिजायन किया गया है कि यह इस क्षेत्र में आने वाले भूकंप और मौसमी तूफाप का सामना कर सके।

 

कंर्टोवर्सी भी खूब हुई


भारी-भरकम लागत, निर्माण में देरी, भ्रष्टाचार की शिकायतों और मजदूरों की सुरक्षा को लेकर यह परियोजना विवादों के घेरे में रही। ब्रिज के निर्माण के दौरान दो मजदूर मारे गए और 19 के खिलाफ झूठी कंक्रीट टेस्ट रिपोर्ट पेश करने का मामला दायर किया गया। निर्माण के शीर्ष चरण में इस ब्रिज पर 14,000 से ज्यादा मजदूर काम कर रहे थे और समुद्र में 300 से ज्यादा जहाज तैनात किए गए थे, इसके बावजूद मजदूरों की सुरक्षा को लेकर कोई खास बंदोबस्त नहीं था।

 

आगे पढ़ें- दुनिया का दूसरा सबसे लंबा sea bridge
 

दुनिया का दूसरा सबसे लंबा sea bridge भी यहीं


42.33 किमी लंबा दुनिया का दूसरा सबसे लंबा sea bridge भी चीन में है। 2011 में बनकर तैयार हुए इस ब्रिज की लागत 1.5 अरब डॉलर रही। यह चीन के पूर्वी तटीय शहर Qingdao और Huangdao उपनगर को जोड़ता है।

 

 

आगे पढ़े- रेल नेटवर्क को बढ़ा रहा चीन

 

रेल नेटवर्क को बढ़ा रहा चीन


यह ब्रिज चीन के दो बड़े ट्रांसपोर्टेशन प्रोजेक्ट में से एक है। दूसरा प्रोजेक्ट है चीन का high-speed rail system, जिसके तहत हाल ही में हांगकांग से चीन के मुख्य क्षेत्र के बीच पहली बुलेट ट्रेन चली है। यह ट्रेन दक्षिण चीन से बीजिंग के बीच की दूरी 24 घंटों से घटाकर सिर्फ 9 घंटे कर देगी। 2019 तक चीन अपने high-speed rail system को 3500 किमी बढ़ाने की परियोजना पर काम कर रहा है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss