Home » Economy » InfrastructureDUES ON FORMULA ONE LAND

जेपी के फॉर्मूला वन लैंड पर संकट, 31 दिसंबर तक देने होंगे 108 करोड़ रुपए

यमुना अथॉरिटी ने जेपी ग्रुप को दी थी 1000 हैक्टेयर जमीन

DUES ON FORMULA ONE LAND

नई दिल्ली. कुछ साल भारत में पहली बार आयोजित फॉर्मूला वन रेस के कारण चर्चा में आई बुद्धा इंटरनेशनल सिटी अब विवादों में है। लगभग 1000 हैक्टेयर जमीन के स्वामित्व वाली कंपनी जेपी ग्रुप को 31 दिसंबर तक 108 करोड़ रुपए यमुना एक्सप्रेस-वे इंडस्ट्रियल डेवलपमेंट अथॉरिटी के पास जमा कराने हैं, यदि ऐसा नहीं किया गया तो अथॉरिटी इस जमीन को वापस ले सकती है। 

 

बोर्ड ने लिया फैसला 
यमुना अथॉरिटी के एक अधिकारी ने बताया कि बोर्ड ने जेपी ग्रुप को एक माह का समय और दिया है, ताकि वह अपने ड्यूज क्लियर कर सके। इससे पहले सितंबर तक का समय दिया गया था, लेकिन ग्रुप ने पैसा जमा नहीं कराया। अब बोर्ड में यह मामला फिर से उठा तो एक माह का समय और दे दिया गया है, लेकिन इसे अब अंतिम चेतावनी बताया गया है।  

 

कई बार दिए गए मौके 
अथॉरिटी चेयरमैन प्रभात कुमार ने कहा कि जेपी ग्रुप को फॉमूर्ला वन बुद्धा इंटरनेशनल सर्किट और जेपी स्पोर्ट्स सिटी के लिए 1000 एकड़ जमीन अलॉट की थी, लेकिन जेपी ग्रुप ने अब तक अथॉरिटी को बकाया 108 करोड़ रुपए का भुगतान नहीं किया है। अथॉरिटी ने कंपनी से कहा था कि वह किश्तों में बकाया भुगतान करे, बावजूद इसके कंपनी ने तय समय पर भुगतान नहीं किया है। अब कंपनी को अंतिम चेतावनी के तौर पर एक माह का समय दिया गया है, जिसके बाद कड़ी कार्रवाई की जाएगी। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Don't Miss