बिज़नेस न्यूज़ » Economy » InfrastructureAir India के विनिवेश की कोशिश जारी रखेगी सरकार, अन्‍य विकल्‍पों की है तलाश: सिन्‍हा

Air India के विनिवेश की कोशिश जारी रखेगी सरकार, अन्‍य विकल्‍पों की है तलाश: सिन्‍हा

सिविल एविएशन मिनिस्‍टर जयंत सिन्हा ने बुधवार को कहा कि सरकार एयर इंडिया के डिस्‍इंवेस्‍टमेंट के लिए प्रतिबद्ध है

Disinvestment of Air India will be continued, Govt clarify

 

नई दिल्‍ली. एयर इंडिया का खरीददार न मिलने के कारण सरकार ने बोली प्रक्रिया तो रोक दी है, लेकिन अभी विनिवेश की योजना से पीछे नहीं हटे हैं। सिविल एविएशन मिनिस्‍टर जयंत सिन्हा ने बुधवार को स्‍पष्‍ट किया कि सरकार एयर इंडिया के डिसइंवेस्‍टमेंट के लिए प्रतिबद्ध है। 

 

परिचालन में सुधार 
उन्होंने कहा, "एयर इंडिया के परिचालन में काफी सुधार हुआ है और वह परिचालन से लाभ कमा रही है। औसतन उसकी 81 प्रतिशत सीटें भरी हुई जा रही हैं, समय पर उड़ान भरने में भी उसका प्रदर्शन सुधरा है। इन पैमानों पर उसका प्रदर्शन दूसरी एयरलाइंस के बराबर है।"

 

कर्ज के ब्‍याज की वजह से हो रहा है नुकसान 
विनिवेश के बारे में उन्होंने कहा कि यह समझना जरूरी है कि एयर इंडिया को टैक्‍स आदि चुकाने के बाद नुकसान,  कर्ज पर दिये जाने वाले ब्याज के कारण हो रहा है। लेकिन, अभी परिचालन में उसका प्रदर्शन ठीक है। हालांकि, बाजार में विमान ईंधन के दाम बढ़े हैं, डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोर हुआ है जिनके मद्देनजर आने वाले समय में उसका प्रदर्शन कैसा रहेगा यह देखना होगा।


अन्‍य विकल्‍पों का आकलन करेंगे 
सिन्हा ने जोर देकर कहा कि बाजार की बदली परिस्थितियों के मद्देनजर एयर इंडिया पर फैसला सिर्फ टला है, लेकिन "सरकार इसमें रणनीतिक विनिवेश के लिए प्रतिबद्ध है।" उन्होंने कहा कि विनिवेश का पहला प्रयास विफल रहने के बाद वह प्रक्रिया अब समाप्त हो चुकी है। हमें बाजार परिस्थितियों और उसके अनुरूप उपलब्ध विकल्पों का आँकलन करना होगा। उसके बाद मंत्रियों का समूह इस पर कोई फैसला लेगा। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट