Home » Economy » Infrastructure34349 KM Highway projects pending in 2017-18

गडकरी के राज्‍य में सबसे अधिक प्रोजेक्‍ट पेंडिंग, 2019 में चुनौती बन सकते हैं 34349 KM हाईवे

राज्‍यों में पेंडिंग पड़े लगभग 34349 किलोमीटर लंबे हाईवे सरकार के लिए चुनौती बन सकते हैं

1 of

नई दिल्‍ली। बेशक 2017-18 में सरकार ने हाईवे बनाने का रिकॉर्ड तोड़ दिया, लेकिन रोड एंड ट्रांसपोर्ट मिनिस्‍टर नितिन गडकरी का राज्‍य महाराष्‍ट्र पेंडिंग प्रोजेक्‍ट्स के मामले में अव्‍वल बना हुआ है। यहां लगभग 7776 किलोमीटर लंबे हाईवे प्रोजेक्‍ट्स पेंडिंग चल रहे हैं। अगले साल होने वाले लोकसभा चुनाव को देखते हुए सरकार ने हाईवे कंस्‍ट्रक्‍शन टारगेट तो बढ़ा दिया है, लेकिन राज्‍यों में पेंडिंग पड़े लगभग 34349 किलोमीटर लंबे हाईवे सरकार के लिए चुनौती बन सकते हैं। 

 

 

क्‍या है 2018-19 का टारगेट? 
मंगलवार को हाईवे प्रोजेक्‍ट्स की समीक्षा के बाद जारी बयान में रोड एवं ट्रांसपोर्ट मिनिस्‍टर नितिन गडकरी ने कहा कि 2018-19 के दौरान करीब 20,000 किलोमीटर लंबे नेशनल हाईवे का वर्क अवार्ड करने का टारगेट रखा है। यह 2017-18 के 17055 किलोमीटर से 25 प्रतिशत अधिक है, जबकि साल 2018-19 का कंस्ट्रक्‍शन टारगेट 16,420 किमी रखा गया है, जबकि 2017-18 के दौरान 9829 किलोमीटर हाईवे का कंस्‍ट्रक्‍शन किया गया। गडकरी ने कहा कि 2018-19 में रोजाना 45 किलोमीटर लंबी सड़क बनाई जाएगी, जबकि साल 2017-18 में 27 किलोमीटर रोजाना हाईवे बनाए गए। 

 

यह भी पढ़ें : रोजाना 45 किमी नेशनल हाईवे बनाएगी सरकार, 2018-19 का टारगेट बढ़ाया

 

पेंडिंग प्रोजेक्‍ट्स का क्‍या होगा ? 
मिनिस्‍ट्री की एक रिपोर्ट बताती है कि राज्‍यों में लगभग 34349 किलोमीटर लंबे हाईवे प्रोजेक्‍ट्स पेंडिंग हैं। दिलचस्‍प बात यह है कि इनमें से सबसे अधिक महाराष्‍ट्र में पेंडिंग हैं। ऐसे में, सरकार करंट फाइनेंशियल ईयर में 17075 किमी के नए प्रोजेक्‍ट्स ऑर्डर करने जा रही है, जबकि इनमें से 16420 किमी प्रोजेक्‍ट्स ही तैयार होंगे। यानी कि पिछले सालों के पेंडिंग हाईवे में से लगभग 17929 किमी हाईवे प्रोजेक्‍ट्स पेंडिंग रह सकते हैं, जबकि नए वर्क ऑर्डर अलग होंगे। 

 

कहां कितने पेंडिंग हैं प्रोजेक्‍ट 
मिनिस्‍ट्री ऑफ रोड एंड ट्रांसपोर्ट के आंकड़ों के मुताबिक, दस बड़े राज्‍यों में पेंडिंग प्रोजेक्‍ट और टारगेट की स्थिति यह है। 

राज्‍य

पेंडिंग हाईवे (किमी)

2018-19 का टारगेट (किमी)

महाराष्‍ट्र

7776

3550

मध्‍यप्रदेश

2099

1106

उत्‍तर प्रदेश

2372

1244

राजस्‍थान

2514

833

बिहार

1600

510

छतीसगढ़

1368

685

कर्नाटक

1994

1075

तमिलनाडु

1282

529

हरियाणा

564

323

आंध्रप्रदेश

1504

600

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट