Home » Economy » Infrastructurewhere is lakhwar dam project

4000 करोड़ में बनेगा लखवाड़ बांध, यूपी-दिल्‍ली सहित 6 राज्‍यों के बीच बनी सहमति

देहरादून से 90 किमी दूर बनेगा 204 मीटर ऊंचा बांध

where is lakhwar dam project

नई दिल्‍ली. देहरादून के पास यमुना पर 204 मीटर ऊंचा लखवाड़ बांध बनाने को लेकर बुधवार को केंद्र व 6 राज्‍यों के बीच समझौता हुआ। इससे जहां उत्‍तराखंड को बिजली मिलेगी, वहीं यमुना बेसिन पर बसे राज्‍य उत्‍तर प्रदेश, उत्‍तराखंड, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, दिल्‍ली व हरियाणा को पानी मिलेगा। इस प्रोजेक्‍ट पर लगभग 3966.51 करोड़ रुपए का खर्च आएगा। राज्‍यों के बीच हुए समझौते की जानकारी सेंट्रल वाटर रिसोर्स, रिवर डेवलपमेंट, शिपिंग एंड रोड ट्रांसपोर्ट मिनिस्‍टर नितिन गडकरी ने दी।

 

गर्मियों में मिलेगा पानी

गडकरी ने कहा कि देहरादून से 90 किमी दूर एक गांव के पास बनने वाले इस बांध से यमुना के पानी के प्रबंधन सही ढ़ंग से किया जाएगा, ताकि इन 6 राज्‍यों में गर्मियों के सीजन में (दिसंबर से मई-जून) पीने का पानी उपलब्‍ध होगा। साथ ही, बांध से बनने वाली बिजली उत्‍तराखंड को दी जाएगी

 

 

42 साल पहले बनी थी योजना

सबसे पहले यह बांध बनाने की योजना साल 1976 में बनाई गई थी, लेकिन काम बेहद धीमी गति से चलता रहा। पर 1992 में पूरी तरह काम रुक गया। जब दिल्‍ली, हरियाणा, उत्‍तर प्रदेश में पानी की कमी महसूस की गई तो फिर से इस प्रोजेक्‍ट की याद 2009 में आई और इस प्रोजेक्‍ट को नेशनल प्रोजेक्‍ट घोषित करते हुए दावा किया गया कि यह प्रोजेक्‍ट जल्‍द ही दोबारा शुरू किया जाएगा। परंतु राज्‍यों के बीच सहमति न बनने और पर्यावरणविदों के विरोध के चलते यह प्रोजेक्‍ट सिरे नहीं चढ़ पाया।

 

कौन कितना करेगा खर्च

लखवाड़ प्रोजेक्ट की कुल लागत 3966.51 करोड़ रुपए है, इसमें पावर पर 1388.28 करोड़ रुपए होगा, जो उत्तराखंड सरकार वहन करेगी इसलिए प्रोजेक्ट के कुल पावर जेनरेशन का लाभ भी उत्तराखंड सरकार को ही मिलेगा। इस प्रोजेक्‍ट से 300 मेगावाट बिजली मिलेगी। शेष 2579.23 करोड़ रुपए सिंचाई और पीने के पानी पर खर्च होंगे सिंचाई और पेयजल की लागत का 90 फीसदी (2320.41 करोड़) हिस्सा केंद्र और 10 फीसदी बेसिन राज्य देंगे

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट