बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Infrastructureकोर सेक्‍टर ग्रोथ मार्च में तीन माह के निचले स्‍तर 4.1% पर आई, घट सकता है IIP

कोर सेक्‍टर ग्रोथ मार्च में तीन माह के निचले स्‍तर 4.1% पर आई, घट सकता है IIP

मार्च में 8 कोर सेक्टर्स की ग्रोथ सुस्त होकर 4.1 फीसदी रह गई, जबकि एक साल पहले समान महीने में ग्रोथ 5.2 फीसदी रही थी।

1 of

नई दिल्ली. मार्च में 8 कोर सेक्टर्स की ग्रोथ 4.1 फीसदी के साथ 3 महीने के निचले स्तर पर पहुंच गई, जबकि एक साल पहले समान महीने में ग्रोथ 5.2 फीसदी रही थी। कोर सेक्टर की सुस्ती की मुख्य वजह कोयला, क्रूड ऑयल और प्राकृतिक गैस सहित 6 सेक्टर्स का कमजोर प्रदर्शन रहा। वहीं रिफाइनरी प्रोडक्ट्स, स्टील और इलेक्ट्रिसिटी की ग्रोथ भी सुस्त रही। इससे पहले कोर सेक्टर ने दिसंबर में 3.8 फीसदी का लो टच किया था। 

 

 

वित्त वर्ष 18 में भी सुस्त रही ग्रोथ
कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री द्वारा मंगलवार को जारी डाटा के मुताबिक एक महीने पहले यानी फरवरी की तुलना में भी ग्रोथ में सुस्ती दर्ज की गई है, जब ग्रोथ 5.4 फीसदी रही थी। वित्त वर्ष 2017-18 की बात करें तो पूरे साल के दौरान कोर इंडस्ट्रीज की ग्रोथ पर तगड़ी मार पड़ी। इस महीने में ग्रोथ घटकर 4.2 फीसदी रह गई, जो बीते तीन वित्त वर्ष का निचला स्तर है। वहीं एक साल पहले यानी वित्त वर्ष 2016-17 में कोर सेक्टर की ग्रोथ 4.8 फीसदी, वहीं 2015-16 की ग्रोथ 3 फीसदी रही थी। 

 


घट सकता है आईआईपी 
कोर सेक्टर के कमजोर प्रदर्शन का असर इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (आईआईपी) पर भी पड़ेगा, क्योंकि आईआईपी में इसकी हिस्सेदारी लगभग 41 फीसदी है। अलग-अलग कोर सेक्टर्स की बात करें तो सिर्फ फर्टिलाइजर और सीमेंट सेक्टर का प्रदर्शन अच्छा रहा। मार्च में इन दोनों सेक्टर्स की ग्रोथ क्रमशः 3.2 फीसदी और 13 फीसदी रही। 

 

 

इलेक्ट्रिसिटी जेनरेशन में भी कमी 
वहीं कोयला, प्राकृतिक गैस, रिफाइनरी प्रोडक्ट्स और स्टील प्रोडक्शन की ग्रोथ मार्च के दौरान क्रमशः 9.1 फीसदी, 1.3 फीसदी, 1 फीसदी और 4.7 फीसदी रही। इलेक्ट्रिसिटी जेनरेशन की ग्रोथ भी घटकर 4.5 फीसदी रह गई, जबकि मार्च, 2017 में यह आंकड़ा 6.2 फीसदी रहा था।  वहीं क्रूड ऑयल की ग्रोथ रेट में 1.6 फीसदी की कमी दर्ज की गई। 


 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट