विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureCore sectors' growth slows down to 1.8 pc in Jan

बिजली-क्रूड में सुस्ती से 19 महीने के लो कोर इंडस्ट्रीज की ग्रोथ, घटकर रह गई 1.8%

Core Industries: हालांकि सीमेंट, स्टील और नैचुरल गैस के प्रोडक्शन में अच्छी ग्रोथ देखने को मिली। 

Core sectors' growth slows down to 1.8 pc in Jan


नई दिल्ली. Core Industries: बिजली, कोयला, क्रूड और रिफाइनरी प्रोडक्ट्स सेक्टर में सुस्ती के चलते जनवरी, 2019 में कोर सेक्टर की ग्रोथ घटकर 1.8 फीसदी रह गई, जबकि एक साल पहले समान अवधि के दौरान यह आंकड़ा 6.2 फीसदी रहा था। कोर सेक्टर की यह ग्रोथ 19 महीने का लो लेवल है। इससे पहले जून, 2017 में कोर इंडस्ट्रीज की ग्रोथ 1 फीसदी रही थी।

 

 

आईआईपी में कोर इंडस्ट्रीज की हिस्सेदारी 40 फीसदी
गौरतलब है कि इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) में 8 अहम कोर इंडस्ट्रीज की लगभग 40 फीसदी हिस्सेदारी है। कोर इंडस्ट्रीज में कोयला, क्रूड ऑयल, नैचुरल गैस, रिफाइनरी प्रोडक्ट्स, फर्टिलाइजर्स, स्टील, सीमेंट और इलेक्ट्रिसिटी शामिल हैं।

 

इन सेक्टर में घटा प्रोडक्शन

जनवरी, 2019 में क्रूड ऑयल, रिफाइनरी प्रोडक्ट्स और इलेक्ट्रिसिटी प्रोडक्शन में क्रमशः 4.3 फीसदी, 2.6 फीसदी और 0.4 फीसदी की कमी दर्ज की गई।

 

कोयला और सीमेंट सेक्टर की ग्रोथ में सुस्ती

वहीं कोयला और सीमेंट सेक्टर की ग्रोथ घटकर क्रमशः 1.7 फीसदी और 11 फीसदी रह गई, जबकि जनवरी, 2018 में यह आंकड़ा 3.8 फीसदी और 19.6 फीसदी रहा था।

 

इन सेक्टर्स से मिला सहारा

हालांकि नैचुरल गैस, फर्टिलाइजर्स और स्टील प्रोडक्शन की ग्रोथ क्रमशः 6.2 फीसदी, 10.5 फीसदी और 8.2 फीसदी रही।

 

आईआईपी पर दिखेगा असर

कोर इंडस्ट्रीज में सुस्ती का असर आगे इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन (IIP) पर भी देखने को मिलेगा, क्योंकि इन सेगमेंट्स की कुल फैक्ट्री आउटपुट में 40 फीसदी से ज्यादा हिस्सेदारी है।
कॉमर्स एंड इंडस्ट्री मिनिस्ट्री द्वारा जारी डाटा के मुताबिक, अप्रैल-जनवरी, 2018-19 के दौरान 8 कोर सेक्टर्स की ग्रोथ 4.5 फीसदी रही, जबकि बीते वित्त वर्ष की समान अवधि के दौरान यह 4.1 फीसदी रही थी।
 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन