बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Infrastructure359 इंफ्रा प्रोजेक्‍ट की लागत 2 लाख करोड़ रु बढ़ी, कई 5 साल से ज्‍यादा लेट

359 इंफ्रा प्रोजेक्‍ट की लागत 2 लाख करोड़ रु बढ़ी, कई 5 साल से ज्‍यादा लेट

देश में इंफ्रा से जुड़े 359 प्रॉजेक्‍ट के लेट होने से इनकी लागत में करीब 2.05 लाख करोड़ रुपए की बढ़ोत्‍तरी हो चुकी है।

1 of

 

नई दिल्‍ली. देश में इंफ्रा से जुड़े 359 प्रॉजेक्‍ट के लेट होने से इनकी लागत में करीब 2.05 लाख करोड़ रुपए की बढ़ोत्‍तरी हो चुकी है। यह वह प्रॉजेक्‍ट हैं जो 150 करोड़ रुपए से ज्‍यादा के हैं। यह जानकारी एक रिपोर्ट में सामने आई है। देश में

 

 

13 फीसदी बढ़ी लागत

150 करोड़ रुपए से ज्‍यादा के प्रॉजेक्‍ट की निगरानी करने वाले मंत्रालय मिनिस्‍ट्री ऑफ स्‍टेटिक्‍स एंड प्रोग्राम ने यह रिपोर्ट तैयार की है। इसके अनुसार 150 करोड़ रुपए से ज्‍यादा की लागत के 1289 प्रोजेक्‍ट इस समय देश में चल रहे हैं। इनमें शुरुआती निवेश का अनुमान 16,05,157.01 करोड़ रुपए का था। लेकिन विभिन्‍न कारणों से होने वाली देरी के चलते अब इनकी अनुमानित लागत 18,10,733.70 करोड़ रुपए है। इस प्रकार इसमें करीब 2,05,576.69 करोड़ रुपए (12.8 फीसदी) लागत बढ़ने का अनुमान है।

 

पावर प्‍लांट्स चलाने के लिए नहीं है नेचुरल गैस, 25 फीसदी ही हो रही है सप्‍लाई

 

15 प्रोजेक्‍ट समय से पहले भी चल रहे

इस रिपोर्ट के अनुसार नवंबर 2017 तक इन प्रोजेक्‍ट में 6,45,872.52 करोड़ रुपए का निवेश हो चुका था, जो इन प्रोजेक्‍ट की कुल अनुमानित लागत का 35.67 फीसदी था। इन 1289 प्रोजेक्‍ट में 4 पूरे हो चुके हैं। 10 प्रोजेक्‍ट नवंबर माह में ही शुरू हुए हैं। इन प्रोजेक्‍ट में से 15 एेसे हैं जो समय से पहले चल रहे हैं। 312 प्राेजेक्‍ट समय से चल रहे हैं, वहीं 297 प्रोजेक्‍ट देरी से चल रहे हैं। 359 प्रोजेक्‍ट ऐसे हैं जिनकी अनुमानित लागत बढ़ चुकी है।

 

 

5 साल से भी ज्‍यादा लेट चल रहे कई प्रोजेक्‍ट

इन प्रोजेक्‍ट में कई 5 साल से ज्‍यादा की देरी से चल रहे हैं। कुल 297 प्रोजेक्‍ट में से 51 ऐसे हैं जो 1 से 12 माह की देरी है। वहीं 65 प्रोजेक्‍ट ऐसे हैं जो 13 माह से लेकर 24 माह की देरी से चल रहे हैं। 103 प्रोजेक्‍ट ऐसे हैं जो 25 माह से 60 माह की देरी से चल रहे हैं। इसके अलावा 78 प्रोजेक्‍ट ऐसे हैं जो 61 माह की देरी से चल रहे हैं।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट