विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureYou can soon travel in rapid rail from Delhi to Meerut, Panipat and Alwar

रैपिड रेल से जल्द जा सकेंगे मेरठ, अलवर और पानीपत, मिनटों में पूरा होगा घंटों का सफर

सराय कालेखां पर बनाए जा सकते हैं अलग-अलग प्लेटफॉर्म

1 of

नई दिल्ली। दिल्ली-एनसीआर में लोगों को आवागमन की सुलभ सुविधाएं देने के उद्देश्य से केंद्र सरकार की परियोजनाओं पर काम कर रही है। इसमें रैपिड रेल भी प्रमुख है। दिल्ली के सराय कालेखां से उत्तर प्रदेश के मेरठ, राजस्थान के अलवर और हरियाणा के पानीपत के लिए रैपिड रेल चलाने की योजना पर काम चल रहा है। दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल के लिए काम शुरू हो गया है। हाल ही में सरकार ने दिल्ली-अलवर रैपिड रेल सेवा के लिए मंजूरी दी है। रैपिड रेल के शुरू हो जाने के बाद इन शहरों की यात्रा मिनटों में पूरी हो जाएगी। अभी यात्री घंटों तक मशक्कत करने के बाद अपने गंतव्य तक पहुंच पाते हैं। 

सराय कालेखां बनेगा सबसे बड़ा जंक्शन

दिल्ली-एनसीआर को रैपिड रेल से जोड़ने के लिए दिल्ली के सराय कालेखां को जंक्शन बनाए जाने की तैयारी चल रही है। यहीं से मेरठ, पानीपत और अलवर के लिए रैपिड रेल मिलेगी। इसको देखते हुए सराय कालेखां जंक्शन को बनाए जाने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। मेरठ, अलवर और पानीपत के लिए यहीं से रैपिड रेल मिलने के कारण यहां पर अधिक भीड़ होगी। इस कारण इस जंक्शन के लिए अलग तरह की प्लानिंग की जा रही है। 

 

हो सकते हैं अलग-अलग प्लेफॉर्म
एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सराय कालेखां जंक्शन पर रैपिड रेल में उतरने और चढ़ने के लिए अलग-अलग प्लेटफॉर्म बनाए जा सकते हैं। दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल तैयार करने वाली कंपनी एनसीआरटीसी के एक अधिकारी के मुताबिक, सराय कालेखां जंक्शन को इस प्रकार से बनाया जा रहा है कि यात्री उतरते या चढ़ते समय आपस में न टकराएं। इसके लिए यहां आठ प्लेटफॉर्म बनाए जा सकते हैं। अधिकारी के अनुसार, जिन प्लेटफॉर्म से यात्री रेल में सवार होंगे वह ग्रीन और जिन पर यात्री रेल से उतरेंगे उन्हें रेड या पिंक कलर दिया जा सकता है।

 

आगे पढ़ें-- ऐसा होगा रैपिड रेल का सराय कालेखां जंक्शन

बनाया जा सकता है एलिवेटेड स्टेशन


रिपोर्ट के अनुसार, सराय कालेखां जंक्शन को एलिवेटेड स्टेशन बनाया जा सकता है। एलिवेटेड स्टेशन बनाने में लागत में कमी आएगी, जबकि अंडरग्राउंड स्टेशन बनाने से लागत बढ़ सकती है।  एलिवेटेड स्टेशन होने के कारण इसको अंतरराज्यीय बस अड्डा, लोकल बस अड्डा और निजामुद्दीन रेलवे स्टेशन को फुट ओवरब्रिज से आसानी से जोड़ा जा सकता है।

 

आगे पढ़ें-- दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल सेवा का काम शुरू

 

दिल्ली-मेरठ रैपिड रेल का काम शुरू


दिल्ली-मेरठ के बीच बनने वाली रैपिड रेल का काम शुरू हो चुका है। हालांकि, इसको अभी तक फाइनल मंजूरी नहीं मिल पाई है। अभी तक दिल्ली सरकार ने भी इस रैपिड रेल सेवा को मंजूरी नहीं दी है। नेशनल कैपिटल रीजन ट्रांसपोर्ट कॉरपोरेशन (एनसीआरटीसी) ने इस रूट पर बनने वाले स्टेशनों और उन पर दी जाने वाली सुविधाओं को अंतिम रूप दे दिया है। इस रैपिड रेल का निर्माण होने के बाद दिल्ली से मेरठ की दूरी करीब 40 मिनट में तय हो जाएगी। अभी दिल्ली से मेरठ जाने में करीब डेढ़ घंटा लग जाता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन