विज्ञापन
Home » Economy » Infrastructurevande bharat express train break down

लॉन्चिंग के अगले दिन ही ‘वंदे भारत एक्सप्रेस' में आई खराबी, यात्रियों को दूसरी ट्रेन से बैठा कर रवाना किया

पहले सफर पर इस ट्रेन की टॉप स्पीड करीब 130 किलोमीटर प्रति घंटा थी।

vande bharat express train break down

भारत की सबसे तेज ट्रेन 'वंदे भारत एक्सप्रेस' में शनिवार सुबह गड़बड़ी आ गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक दिन पहले ही इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी और रविवार से यह आम लोगों के लिए शुरू होने वाली थी। ट्रेन को आगरा मंडल के टूंडला में रोका गया। इसमें सफर कर रहे लोगों को अन्य ट्रेन से आगे के लिए रवाना किया गया।

नई दिल्ली। भारत की सबसे तेज ट्रेन 'वंदे भारत एक्सप्रेस' में शनिवार सुबह गड़बड़ी आ गई। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक दिन पहले ही इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाई थी और रविवार से यह आम लोगों के लिए शुरू होने वाली थी। ट्रेन को आगरा मंडल के टूंडला में रोका गया। इसमें सफर कर रहे लोगों को अन्य ट्रेन से आगे के लिए रवाना किया गया।

 

कुछ डिब्बों के ब्रेक हुए जाम

यह ट्रेन वाराणसी से लौट रही थी, तभी दिल्ली से करीब 200 किलोमीटर की दूरी पर इसमें गड़बड़ी का पता चला। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इसके आखिरी के कुछ डिब्बों के ब्रेक जाम हो गए और अंतिम चार बोगियों में बिजली गुल हो गई। बताया गया है कि ट्रेन के कंट्रोल्स भी फेल हो गए और फिलहाल इस गड़बड़ी को ठीक नहीं किया जा सका।

 

आइए जानते हैं, ट्रेन की खासियत... 
 

1. वंदे भारत नई दिल्ली और वाराणसी के बीच चलेगी। 755 किलोमीटर की यह दूरी 8 घंटों में तय की जाएगी। 

2. वंदे भारत एक्सप्रेस सप्ताह में पांच दिन चलेगी। यह सुबह 6 बजे नई दिल्ली से रवाना होगी और कानपुर एवं इलाहाबाद होते हुए दोपहर 2 बजे वाराणसी पहुंचेगी। 

3.वाराणसी से दिल्ली के लिए इस ट्रेन का समय दोपहर 3 बजे रखा गया है, जो रात 11 बजे नई दिल्ली पहुंचेगी। 

4.  इस ट्रेन में एसी चेयर कार और एग्जिक्युटिव क्लास, दो तरह की बोगियां हैं। 


5. ट्रेन 18 की सबसे खास बात यह है कि इसमें आपको दूसरी अन्य ट्रेनों की तरह इंजन नहीं दिखेगा। ड्राइविंग सिस्टम लगे पहले कोच में 44 सीटें भी हैं। 

6ट्रेन के कोच में स्पेन से मंगाई विशेष सीट भी लगाई गई है, जिन्हें आवश्यकता पड़ने पर 360 डिग्री तक मूव किया जा सकता है। 

7इन कोच में दिव्यांग जनों के लिए विशेष रूप से दो बाथरूम और बेबी केयर के लिए विशेष स्थान दिया गया है। 

9हर कोच में छह सीसीटीवी कैमरा लगाए गए हैं। ड्राइवर के कोच में एक सीसीटीवी इंस्टॉल किया गया है, जहां से यात्रियों पर नजर रखी जा सकती है। 

10. वंदे भारत के दरवाजे मेट्रो ट्रेनों की तरह स्वचालित होंगे। यानी, प्लैटफॉर्म पर ही खुलेंगे और बंद हो जाएंगे।


 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन