Home » Economy » InfrastructureThis Indian company will extract gold form copper leftovers

कॉपर के कचरे से सोना बनाएगी ये भारतीय कंपनी, जून से काम शुरू

यह कंपनी तांबे के कचरे से सोना और चांदी पैदा करने जा रही है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। कचरा भी बड़े काम का होता है। ये साबि‍त करने जा रही है हिन्‍दुस्‍तान कॉपर लिमिटेड (HCL). यह कंपनी तांबे के कचरे से सोना और चांदी पैदा करने जा रही है। इसके लि‍ए कंपनी ने सारी तैयारि‍यां कर ली हैं। 


कॉपर के प्रोडक्‍शन में देश नंबर वन कंपनी एचसीएल ने  उसके कचरे से सोना और चांदी पैदा करने के लि‍ए 2 अरब डॉलर का प्रोजेक्‍ट तैयार कि‍या है और इसी साल जून में काम भी शुरू हो जाएगा। कंपनी मध्‍यप्रदेश के मलांजखंड कॉपर माइन में इसे शुरू करेगी। भारत में इस तरह का यह पहला प्रोजेक्‍ट होगा। कंपनी का दावा है कि‍ वह हर साल करीब 360 कि‍लो सोना और 3600 कि‍लो चांदी कॉपर के कचरे से नि‍कालेगी।  आगे पढ़ें 

हर दि‍न एक कि‍लो सोना 
कंपनी के वरि‍ष्‍ठ अधि‍कारी ने बीएस को बताया कि‍ हर दि‍न इस प्‍लांट में कॉपर अयस्‍क के 10 हजार टन कचरे को प्रोसेस कि‍या जाएगा और इससे 1 कि‍लो सोना व 10 कि‍लो तक चांदी पैदा हो सकती है। कॉपर कचरा दरअसल मुख्‍य धातु को नि‍काल लेने के बाद बचा प्रोडक्‍ट होता है। यह प्‍लांट मार्च आखि‍र तक बनकर तैयार हो जाएगा और जून में प्रोडक्‍शन शुरू हो जाएगा। यहां की सफलता के आधार पर इसी तरह का प्रोजेक्‍ट राजस्‍थान की कॉपर माइन में भी शुरू कि‍या जाएगा। 
कंपनी के पास अभी 5 करोड़ टन कचरा पहले से पड़ा है। यहां से सोना बनाने वाले प्‍लांट को नि‍यमि‍त सप्‍लाई मि‍लती रहेगी। इसके अलावा हर दि‍न 5 से 7 हजार टन कचरा वैसे भी पैदा होता है। यह तकनीक हाल ही में भारत आई है और ये कंपनी उसका पूरा फायदा उठाना चाहती है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट