Home » Economy » InfrastructureSkill India joins hands with Ministry of Power

इन 6 राज्‍यों में 47,000 युवाओं को ट्रेनिंग और सरकारी जॉब देंगे मोदी, हो जाएं तैयार

सरकार छह राज्‍यों में वोकेशनल ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू कर रही है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। ग्रामीण क्षेत्रों के युवाओं के वि‍कास की खाति‍र कौशल वि‍कास मंत्रालय ने ऊर्जा मंत्रालय के साथ मि‍लकर ट्रेनिंग और जॉब प्रोग्राम शुरू करने का फैसला लि‍या है। दरअसल प्रधानमंत्री सहज बिजली हर घर योजना (SAUBHAGYA) के तहत सरकार ने 16320 करोड़ रुपए की लागत से मार्च 2019 तक 4 करोड़ से अधि‍क घरों में बि‍जली पहुंचाने का लक्ष्‍य रखा है। इस मकसद को हासि‍ल करने के लि‍ए बड़ी संख्‍या में कुशल श्रमिकों की जरूरत होगी। इसके लि‍ए सरकार छह राज्‍यों में वोकेशनल ट्रेनिंग प्रोग्राम शुरू कर रही है, ताकि‍ युवाओं को ट्रेनिंग और रोजगार मि‍ल सके। पूरे देश में 55000 युवाओं को लाइनमैन डि‍स्‍ट्रीब्‍यूशन और टेक्‍नि‍कल हेल्‍पर की ट्रेनिंग दी जाएगी। इस ट्रेनिंग की बदौतल उन्‍हें नौकरी मि‍लेगी।  आगे पढ़ें   

छह राज्‍यों को चुना 
सरकार ने जि‍न छह राज्‍यों को फि‍लहाल चुना है उनमें असम, बि‍हार, मध्‍यप्रदेश, झारखंड, ओडि‍शा और उत्‍तर प्रदेश शामि‍ल हैं। सरकार का मकसद युवाओं को ट्रेनिंग देकर उन्‍हें इस योजना के तहत जॉब देना है। इससे दो फायदे होंगे- इस योजना को अमली जामा पहनाने के लि‍ए जरूरी वर्कफोर्स मि‍लेगी और ग्रामीण क्षेत्र के युवाओं को प्रशि‍क्षण के साथ साथ नौकरी भी मि‍ल जाएगी। इन 6 राज्‍यों में कुल 47000 युवाओं को ट्रेनिंग दी जाएगी।  आगे पढ़ें 

200 जि‍लों में  लागू होगी 
इस योजना को पूरे देश में  लागू कि‍या जाना है, लेकि‍न 200 जि‍लों को खास तवज्‍जो दी जाएगी। जि‍लों की आईटीआई और स्‍टेट पावर डिस्‍ट्रीब्‍यूशन के इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर को स्‍कि‍ल ट्रेनिंग के लिए यूज कि‍या जाएगा। ऊर्जा राज्‍य मंत्री राज कुमार सिंह ने कहा कि हमें सौभाग्‍य योजना को सफलता पूर्वक लागू करने के लि‍ए 5000 लाख कामकाजी घंटों की जरूरत है। हम करीब 35000 प्रशिक्षि‍त कर्मचारी चाहि‍ए। हम स्‍थानीय जरूरतों के आधार पर ट्रेनिंग देने का लक्ष्‍य तय करेंगे। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट