विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureReal Estate Sector faces big down in Britain, Indians buying more property

स्विटजरलैंड नहीं अब यह देश बना भारतीयों का नया ठिकाना, जमकर कर रहे खरीदारी

दिल्ली-मुंबई से कम कीमत पर मिल रहे हैं फ्लैट्स

1 of

नई दिल्ली। ब्रिटेन के यूरोपियन यूनियन (EU) से बाहर जाने के कारण वहां की अर्थव्यवस्था में अनिश्चितता का माहौल बना गया है। इस कारण वहां के रियलटी सेक्टर में जबदस्त मंदी का माहौल है। लंदन समेत पूरे ब्रिटेन में प्रॉपर्टी के दामों में 5 से 7 प्रतिशत तक की गिरावट दर्ज की गई है। संभावना जताई जा रही है कि आने वाले दिनों में यह गिरावट 10 प्रतिशत तक हो सकती है। 

 

जमकर खरीदारी कर रहे भारतीय

लंदन के रियल्टी डवलपर्स और रियल एस्टेट एजेंट के हवाले से प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन के रियल्टी सेक्टर में आई मंदी का भारतीय भी खूब लाभ उठा रहे हैं। यही कारण है कि लंदन समेत दूसरे शहरों में भारतीय जमकर प्रॉपर्टी की खरीदारी कर रहे हैं। रिपोर्ट के अनुसार, इस समय जो भी प्रॉपर्टी की बिक्री हो रही है, उसमें भारतीय खरीदार ज्यादा हैं। भारतीयों द्वारा प्रॉपर्टी खरीद में 15-20 प्रतिशत की बढ़ोतरी हुई है। 

 

दिल्ली-मुंबई से सस्ते हुए फ्लैट

रिपोर्ट के अनुसार, ब्रिटेन के पॉश इलाकों जैसे लिवरपूल स्ट्रीट, ऑक्सफोर्ट स्ट्रीट, बॉन्ड स्ट्रीट, बैकर स्ट्रीट में इन दिनों फ्लैट्स की कीमत काफी गिर गई है। यही कारण है कि यहां दिल्ली के लुटियंस जोन या साउथ मुंबई से सस्ते फ्लैट मिल रहे हैं। लंदन के इन इलाकों में मिड साइज फ्लैट्स की कीमत 9 से 14 करोड़ के बीच चल रही है। आपको बता दें कि कुछ समय पहले तक भारतीय कारोबारी आलीशान जीवन जीने के लिए स्विटजरलैंड, ऑस्ट्रेलिया, अमेरिका जैसे देशों में बसना पसंद करते थे। लेकिन हाल के दिनों में इसमें बदलाव आया है।

आगे और घटेंगी कीमतें


लंदन की कंसल्टिंग फर्म्स के हवाले से प्रकाशित
इस रिपोर्ट में कहा गया है कि आने वाले दिनों में
लंदन समेत ब्रिटेन के दूसरे शहरों में प्रॉपर्टी की
कीमतों में और गिरावट हो सकती है। कंसल्टिंग
फर्म्स का कहना है कि ब्रेग्जिट से जुड़ी
अनिश्चितता के कारण रियल एस्टेट सेक्टर में
मंदी का माहौल बना हुआ है। 

लंदन में प्रॉपर्टी खरीदने वालों की संख्या में बढ़ोतरी


रिपोर्ट में कहा गया है कि EU से निकलने की तैयारियों के कारण रियल एस्टेट सेक्टर में टॉप एंड पर बड़ा असर पड़ा है। यही कारण है कि बीते पांच साल में लंदन में प्रॉपर्टी खरीदने की चाहत रखने वालों की संख्या में बढ़ोतरी हुई है। इसमें भी भारतीयों की संख्या ज्यादा तेजी से बढ़ी है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss