Home » Economy » InfrastructureUnemployed youth in Rajasthan to get unemployment allowance

राजस्थान में बेरोजगार युवाओं को भत्ता मिलना तय, चाहे सरकार किसी की भी बने

राज्य में 20 से 29 वर्ष के 30 फीसदी युवा बेराजेगार

1 of

नई दिल्ली.

राजस्थान में आज विधानसभा चुनावों के लिए वोट डाले गए। 11 दिसंबर को इसका नतीजा आना है। यहां भारतीय जनता पार्टी और कांग्रेस दो मुख्य पार्टियां हैं। सरकार भी इन्हीं में से किसी की बनेगी और जनवरी में हर हाल में नई सरकार सत्ता संभाल ही लेगी। लेकिन सरकार किसी की भी बने, राजस्थान के बेरोजगार युवाओं को भत्ता मिलना तय है। भाजपा ने अपने घोषणापत्र में 5000 रुपए बेरोजगारी भत्ता देने की बात कही है, वहीं कांग्रेस ने भी 3500 रुपए बेरोजगारी भत्ता देने का ऐलान किया है।

 

20 से 29 वर्ष के 30 फीसदी युवा बेराजेगार

राजस्थान में बेरोजगारी बड़ा मुद्दा है। टाइम्स ऑफ इंडिया में छपी खबर के मुताबिक 20 से 29 आयु वर्ग के तकरीबन 30 फीसदी युवा बेरोजगार हैं। ऐसे में सभी पार्टियां बेरोजगारी के मुद्दे को भुनाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ रही हैं। तभी तो दोनों प्रमुख पार्टियों के घोषणापत्र में बेरोजगारी भत्ते देने की बात कही है।

 

आगे पढ़ें- दोनों पार्टियों के घोषणापत्र की प्रमुख बातें

 

 

कांग्रेस के घोषणापत्र में किए गए वादे

 

-बेरोजगार युवाओं के लिए 3500 रुपए मासिक भत्ता

-किसानों की कर्ज माफी और बुजुर्ग किसानों को पेंशन

-पत्रकार सुरक्षा कानून लागू करने का वादा

-रोजगार देने का वादा

-रोजगार के लिए कम ब्याज पर कर्ज देने का वादा

-लड़कियों को मुफ्त शिक्षा

 

आगे पढ़ेंभाजपा के घोषणापत्र की प्रमुख बातें

 

 

भाजपा के घोषणापत्र की प्रमुख बातें

 

-21 वर्ष से ज्यादा उम्र के बेरोजगारों को प्रतिमाह पांच हजार रुपए भत्ता दिया जाएगा।

-सरकारी क्षेत्र में सालाना 30 हजार सरकारी नौकरियां दी जाएंगी। यानी पांच साल में 1.5 लाख सरकारी नौकरियां।

-पांच वर्ष में 50 लाख प्राइवेट नौकरियां दी जाएंगी।

-किसान की आय दोगुनी की जाएगी।

-स्कूल पूरा होने के बाद छात्राओं के बैंक खाते में 50,000 रुपए डाले जाएंगे।

 

 

 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट