विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureUP govt may provide insurance to pilgrims visiting Kumbh Mela

कुंभ मेला: श्रद्धालुओं को यूपी सरकार की तरफ से मिल सकती है यह बड़ी सौगात, उपमुख्यमंत्री ने की घोषणा

15 जनवरी से शुरू हो रहे कुंभ मेले में डेढ करोड़ श्रद्धालुओं के जुटने की है उम्मीद

1 of

नई दिल्ली.

उत्तर प्रदेश के प्रयागराज में 15 जनवरी से कुंभ मेला शुरू होने जा रहा है। इसके लिए सरकार की ओर से सभी तैयारियां लगभग पूरी हो गई हैं। शनिवार को उत्तरप्रदेश के उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने मीडिया को बताया कि राज्य सरकार कुंभ मेले में आने वाले श्रद्धालुओं का बीमा करने के बारे में विचार कर रही है। उन्होंने कहा, ‘कुंभ मेले में सुरक्षा के लिए सारी व्यवस्था की गई हैं। हम भक्तों का बीमा करने की दिशा में भी विचार कर रहे हैं।’ दरअसल वर्ष 2013 में इलाहाबाद (अब प्रयागराज) कुंभ मेले में भगदड़ से कई लोगों की मौत हो गयी थी और अन्य कई घायल हो गये थे। इसलिए सरकार इस बार श्रद्धालुओं का खयाल रखने के लिए हर कोशिश कर रही है। 

 

मिलेंगी सभी सुविधाएं

उन्होंने कहा कि इस बार जैसी तैयारी है, किसी भी श्रद्धालु को खरोंच तक नहीं आएगी। कोई असुविधा नहीं होगी। इसके साथ ही उन्होंने भरोसा दिलाते हुए कहा कि कुंभ मेले में कोई भक्त अपने परिजनों से न बिछुडे, इसके लिए भी राज्य सरकार ने सारे प्रबंध किये हैं।

 

4300 करोड़ रुपए है कुंभ का बजट

मेला 10,000 एकड़ क्षेत्र में फैला है। लोगों के भोजन के प्रबंध के लिए 600 रसोईघर होंगे। 48 मिल्क बूथ होंगे। 200 वॉटर एटीएम लगेंगे। फ्री वाई-फाई के लिए 4,000 हॉटस्पॉट लगाए जाएंगे। मेले के लिए 1.20 लाख से अधिक शौचालयों का निर्माण किया जा रहा है। पूरा मेला क्षेत्र सीसीटीवी की निगरानी में रहेगा। मेला परिसर में सार्वजनिक विश्राम के लिए 20,000 बिस्तर लगाएं जाएंगे, जबकि इनके पास ही 4,200 प्रीमियम टेंट भी स्थापित किए जाएंगे।

 

 

होगा संस्कृतियों का समागम

कुंभ मेले में इस बार 192 देशों का प्रतिनिधित्व होगा। इसे दुनिया का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन कहा जाता है। इसमें जुटने वाले डेढ करोड़ संभावित श्रद्धालुओं में से 10 लाख विदेशी होंगे। इसमें आनंद अखाड़े के प्रसिद्ध 'फ्रेंच बाबाभी शामिल होंगे। मेले में पांच सांस्कृतिक पंडालों में प्रस्तुतियां दी जाएंगी व लेजर शो का आयोजन किया जाएगा। इसमें से सबसे बड़ा गंगा पंडाल है जिसमें 10,000 लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई है। प्रवचन पंडाल में 2,000 लोग बैठ सकेंगे।

 

 

ऐसे पहुंच सकेंगे कुंभ

कुंभ मेले के लिए सरकार ने खासतौर से 800 विशेष ट्रेनों को हरी झंडी दिखाई है। मेला क्षेत्र में 300 किमी लंबी सड़क बिछाई गई है। नदियों के रास्ते आवागमन करने वाले लोगों के लिए किला घाटसरस्वती घाटनैनी ब्रिज और सुजावन घाट पर फ्लोटिंग टर्मिनल बनाए गए हैं। साथ ही दो जहाजसीएल कस्तूरबा और एसएल कमला और कई छोटी नावें भी यात्रियों को लाने-ले जाने के लिए तैनात की गई हैं। मेले के अंदर लाख वाहनों की पार्किंग बनाई गई है और 524 शटल बसें यहां तैनात रहेंगी।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन