विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructurePost Pulwana Attack CRPF to Get Mine Protected Vehicles for Convoys in Kashmir

फिर से नहीं हो पाएगा पुलवामा जैसा हमला, CRPF जवानों के लिए बख्तरबंद गाड़ियां खरीदेगी केंद्र सरकार

कश्मीर घाटी में तैनात बलों को दिया जाएगा बम निरोधी दस्ता

Post Pulwana Attack CRPF to Get Mine Protected Vehicles for Convoys in Kashmir

Post Pulwana Attack CRPF to Get Mine Protected Vehicles for Convoys in Kashmir: फरवरी में कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 44 सीआरपीएफ जवान शहीद हुए थे। इस हमले के बाद केंद्र सरकार जवानों की सुरक्षा के प्रति सतर्क हो गई है। ऐसा हमला दोबारा न हो इसके लिए सीआरपीएफ कश्मीर घाटी में तैनात जवानों के लिए Mine Protected Vehicle (बख्तरबंद गाड़ियां) खरीदने जा रहा है। इसके साथ ही जवानों के लएि 30 सीटों वाली बसें भी खरीदी जाएंगी। 

नई दिल्ली.

फरवरी में कश्मीर के पुलवामा में हुए आतंकी हमले में 44 सीआरपीएफ जवान शहीद हुए थे। इस हमले के बाद केंद्र सरकार जवानों की सुरक्षा के प्रति सतर्क हो गई है। ऐसा हमला दोबारा न हो इसके लिए सीआरपीएफ कश्मीर घाटी में तैनात जवानों के लिए Mine Protected Vehicle (बख्तरबंद गाड़ियां) खरीदने जा रहा है। इसके साथ ही जवानों के लएि 30 सीटों वाली बसें भी खरीदी जाएंगी। सीआरपीएफ के महानिदेशक की ओर से दी गई जानकारी के मुताबिक अर्द्धसैनिक बल ने कश्मीर घाटी में तैनात अपनी 65 बटालियनों के लिए अपने बम निरोधी दस्ते को भी बढ़ाने का फैसला किया है।

 

पुलवामा हमले के बाद लिया फैसला

14 फरवरी को जम्मू से श्रीनगर जा रहे सीआरपीएफ जवानों के काफिले की एक बस को आत्मघाती हमलावर ने विस्फोटकों से लदे वाहन से टक्कर मार दी थी। इसमें 44 जवान शहीद हुए। सीआरपीएफ के महानिदेशक आर. आर. भटनागर ने कहा, 'हम कश्मीर में अपनी आईईडी रोधी क्षमताओं को बढ़ा रहे हैं। हम और बख्तरबंद गाड़ियां खरीद एवं भेज रहे हैं और बल की बसों को बुलेट प्रूफ बना रहे हैं। बड़ी बसों को बख्तरबंद बनाना मुश्किल है इसलिए हम 30 सीटों वाली छोटी बसों को खरीदने के बारे में विचार कर रहे हैं, जिन्हें बेहतर तरीके से बख्तरबंद किया जा सके।'

 

बटालियनों को दिया जाएगा बम निरोधी दस्ता

सीआरपीएफ प्रमुख ने कहा कि यह तय किया गया है कि कश्मीर घाटी में तैनात बल की प्रत्येक बटालियन को बम निरोधी दस्ता उपलब्ध कराया जाएगा। उन्होंने कहा कि पुलवामा जैसे हमलों से निपटने के लिए काफिले की आवाजाही एवं सुरक्षा के नए तरीकों पर गौर किया गया है।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन