विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructurePiyush Goyal on criticism of the inauguration of train-18 after pulwama attack

पुलवामा हमले के बाद भी ‘वंदे भारत’ एक्सप्रेस के उद्धाटन पर हुई आलोचना पर आया पीयूष गोयल का बयान, इसलिए नहीं बदली गई तारीख 

रविवार से आम लोग कर पाएंगे सफर

1 of

 

नई दिल्लीपुलवामा हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गये हैं।  इसके बाद भी ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ को रवाना करने पर सुबह से सोशल मीडिया पर अलाेचना हो रही थी। अब मंत्री पीयूष गोयल ने बताया  कि ‘वंदे भारत एक्सप्रेस’ को हरी झंडी दिखाकर रवाना करना उन आतंकवादियों को करारा जवाब है जिन्होंने पुलवामा हमलों की साजिश रची।उन्होंने कहा कि कार्यक्रम जारी रखते हुए इस ट्रेन को हरी झंडी दिखाने का फैसला फिर से उठ खड़े होने के उसी जज्बे से प्रेरित है जो 26/11 हमलों के बाद मुंबई ने दिखाया था।     

गुरूवार को पुलवामा जिले में जैश-ए-मोहम्मद के आत्मघाती बम हमलावर ने 100 किलोग्राम से अधिक विस्फोटकों से भरे अपने वाहन को सीआरपीएफ जवानों की बस से टक्कर मार दी थी, जिसमें 40 जवान शहीद हो गये।

 

रेल मंत्री ने कहा, ‘‘जिस तरह से मुंबई में हर किसी ने अपने काम पर लौटकर अपनी जिम्मेदारियों का निर्वहन करते हुए उन्हें जवाब दिया, उसी तरह से जनता की सेवा में आज इस समय वंदे भारत एक्सप्रेस ट्रेन को राष्ट्र को समर्पित किया गया।’’   

गोयल ने कहा, ‘‘यह आतंकवादियों को सबसे करारा जवाब है। न तो हमारे जवान और न ही देश की जनता उनके आगे कभी घुटने टेकेगी।’’  गोयल ने कहा कि देश और इसके सैनिक आतंकवादियों को मुंहतोड़ जवाब देने में सक्षम हैं।     

     


 

पीएम मोदी सुबह 10.45 हरी झंडी दिखायी  

पुलवामा आतंकवादी हमले की पृष्ठभूमि में गमगीन माहौल के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन से भारत की पहली सेमी-हाई स्पीड ट्रेन वंदे भारत एक्सप्रेस को हरी झंडी दिखायी। इस अवसर पर गोयल और रेलवे बोर्ड के सदस्य उपस्थित थे और ट्रेन के इस उद्घाटन सफर का हिस्सा बने।    

प्रधानमंत्री ने कहा, ‘‘दिल्ली से वारणसी की अपनी पहली यात्रा पर आज रवाना होने वाली वंदे भारत एक्सप्रेस के डिजाइनरों और इंजीनियरों का मैं आभारी हूं। पिछले साढे चार साल में अपनी ईमानदारी और कड़ी मेहनत से हमने रेलवे को सुधारने का प्रयास किया है।’’      

यह ट्रेन दिल्ली से वाराणसी का सफर नौ घंटे और 45 मिनट में पूरा करेगी। इसमें कानपुर और इलाहाबाद में 40 मिनट का ठहराव का समय भी शामिल है, जहां विशेष कार्यक्रम आयोजित होंगे।

 

विवार से आम लोग कर पाएंगे सफर

इसके लिए रेलवे टिकट काउंटर या IRCTC की वेबसाइट से भी आप टिकट बुक कर सकते हैं। यह ट्रेन सोमवार और गुरुवार को छोड़कर बाकी सब दिन चलेगी। दिल्ली से वाराणसी जाने के लिए एसी चेयर कार का किराया 1760 रुपए होगा। वापसी के लिए 1,700 रुपए देने होंगे। वहीं दिल्ली से वाराणसी एक्जीक्यूटिव क्लास का टिकट 3,310 रुपए होगा। वापसी का किराया 3,260 रुपए रहेगा। ट्रेन में 16 एसी कंपार्टमेंट, हैं जिनमें से 2 एक्‍जीक्‍यूटिव श्रेणी के हैं। गाड़ी की कुल यात्री क्षमता 1128 है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन