Home » Economy » InfrastructureRailway to combat foggy weather with fog safety device

अब कोहरे में लेट नहीं होंगी ट्रेन, शुरू हो गई भारतीय रेलवे की कवायद

सभी एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों में लगेगा एक खास उपकरण

1 of

नई दिल्ली.

सर्दियां आते ही कोहरे की वजह से ट्रेन लेट होने लगती हैं। उत्तर भारत के शहरों के बीच चलने वाली ट्रेनें तो 24 से 30 घंटे तक लेट हो जाती हैं। इससे न सिर्फ यात्रियों को असुविधा होती है बल्कि रेलवे का भी नुकसान हाेता है। ऐसे में भारतीय रेलवे का उत्तरी जोन कोहरे और धुंध से निपटने के लिए एक एक्शन प्लान पर काम कर रहा है। इसके तहत भारतीय ट्रेनों में फॉग सेफ्टी डिवाइस (Fog safety device) लगाई जाएगी, जो कोहरे में ट्रेन को रास्ता दिखाएगी और समय पर गंतव्य पर पहुंचने में मदद करेगी।

 

एेसे काम करेगी डिवाइस

यह डिवाइस GPS आधारित उपकरण है, जिसे ट्रेन पर लगाया जाएगा। यह लोको पायलट को आगे आने वाले सिग्नल के बारे में एडवांस सूचना देगा। नॉर्थ जाेन की ट्रेनों में 2,648 फॉग सेफ्टी डिवाइस लगाए जाएंगे। फाॅग की समस्या से प्रभावित होने वाले अन्य रेलवे जोन को भी यह डिवाइस दी गई हैं। ईस्ट सेंट्रल रेलवे को 877 डिवाइस, नॉर्थ सेंट्रल रेलवे को 537 डिवाइस, नॉर्थ ईस्टर्न रेलवे को 975, नॉर्थईस्ट फ्रंटीयर रेलवे और नॉर्थ वेस्टर्न रेलवे को 802 डिवाइस दी गई हैं।

 

आगे पढ़ें- सभी ट्रेनों में लगेगी यह डिवाइस

 

 

सभी एक्सप्रेस और पैसेंजर ट्रेनों में लगेगा यह उपकरण

नॉर्थ जोन के जनरल मैनेजर टीपी सिंह के मुताबिक सभी एक्सप्रेस व पैसेंजन ट्रेनों में यह डिवाइस लगाई जाएगी। जल्द ही अतिरिक्त 600 डिवाइस ट्रेनों में लगाई जाएंगीं। 5,400 डिवाइस का अभी ऑर्डर डाला गया है और अगले तीन महीने में उन्हें भी ट्रेनों में लगाया जाएगा।

 

आगे पढ़ें- रेलवे करेगा और भी उपाय

 

 

रेलवे करेगा और भी उपाय

कोहरे की स्थिति में लोको पायलट को आने वाले सिग्नल के बारे में चेतावनी देने के लिए भारतीय रेलवे ट्रैक पर डेटोनेटर लगाने के लिए फॉगमैन को तैनात करेगी। डेटोनेटर एक ऐसी डिवाइस है जिसपर से ट्रेन के गुजरने पर तेज आवाज होती है। इससे लोको पायलट को आने वाले सिग्नल का अंदाजा हो जाएगा। इसके साथ ही स्टेशन के क्रू और स्टाफ को वॉकी-टॉकी सेट दिए गए हैं। इतना ही नहीं लोको पायलट की मदद करने के लिए सिग्नल इंडीकेशन बुकलेट भी दिए जाएंगे और उनकी काउंसिलिंग भी की जाएगी। लाेको पायलट की अनिवार्य ट्रेनिंग और रिफ्रेशर कोर्स 15 दिसंबर तक हो जाएगा।

 
prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट