Advertisement
Home » Economy » InfrastructureNoida-Greater Noida Metro will start from next week

28 दिसंबर को तय होगा नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो का भविष्य, किराए पर लगेगी अंतिम मुहर

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे उद्घाटन

1 of

नई दिल्ली। नोएडा के सेक्टर 52 होशियारपुर से ग्रेटर नोएडा के डेल्टा-1 तक बनाई गई नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो का भविष्य 28 दिसंबर को तय होगा। इस दिन नोएडा मेट्रो रेल कॉरपोरेशन (एनएमआरसी) की बोर्ड बैठक होने जा रही है। इस बोर्ड बैठक में नोएडा-ग्रेटर नोएडा को आधिकारिक रूप से चलाए जाने की तारीख तय का जाएगी। साथ ही इस दिन किराए पर भी अंतिम मुहर लग जाएगी। नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो रूट की कुल लंबाई 27.8 किलोमीटर है और इस पर कुल 21 स्टेशन बनाए गए हैं।

 

मेट्रो रेल सेफ्टी कमिश्नर दे चुके हैं मंजूरी
नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो रेल सेवा की शुरुआत इस महीने के अंत में या जनवरी 2019 के पहले सप्ताह में हो सकता है। मेट्रो रेल सेफ्टी कमिश्नर इस रूट का निरीक्षण कर अपनी मंजूरी दे चुके हैं। अब अधिकारों को उत्तर प्रदेश सरकार से मंजूरी मिलने का इंतजार है। अधिकारियों का कहना है कि इस रेल लाइन का उद्धाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी करेंगे। इसके लिए सीएम ऑफिस के अधिकारी पीएमओ के संपर्क में हैं। प्रधानमंत्री की ओर से समय मिलते ही उद्धाटन की तारीख की घोषणा कर दी जाएगा।

 

आगे पढ़ें--वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हो सकता है उद्धाटन

वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए हो सकता है उद्धाटन


एनएमआरसी के अधिकारियों का कहना है कि मेट्रो रेल सेफ्टी कमिश्नर की मंजूरी के बाद नोएडा-ग्रेटर नोएडा मेट्रो रेल सेवा कॉमर्शियल ऑपरेशन के लिए पूरी तरह से तैयार है। अधिकारियों का कहना है कि मेट्रो का लोकार्पण पीएम के हाथों कराने के लिए सीएम ऑफिस के अधिकारी पीएमओ के संपर्क में है। अधिकारियों का कहना है कि प्रधानमंत्री के मौजूद नहीं रहने की स्थिति में पीएम वीडियो कॉन्फ्रेंसिग के जरिए भी उद्धाटन कर सकते हैं।

 

आगे पढ़ें--1 महीने तक हर स्टेशन रुकेगी मेट्रो

1 महीने तक हर स्टेशन रुकेगी मेट्रो


अक्टूबर में एनएमआरसी ने अपनी वेबसाइट में एक सर्वे के जरिए मेट्रो को सभी स्टेशन पर रोकने या फिर एक्सप्रेस लाइन की तरह चलाने को लेकर सुझाव मांगे थे। इसमें लोगों ने मिलीजुली राय दी थी। फिलहाल मेट्रो अधिकारियों ने एक माह तक सभी 21 स्टेशनों पर मेट्रो को रोकने का फैसला किया है। इस अवधि में यह देखा जाएगा कि किस स्टेशन पर कितने यात्री मिल रहे हैं। एनएमआरसी के अधिकारियों के अनुसार, जिन स्टेशनों पर कम यात्री मिलेंगे, वहां मेट्रो को नहीं रोका जाएगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
Advertisement