विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureCoach Factory in Rae Bareli will be ready by 2021 by Artificial Intelligence Coach

सोनिया गांधी के गढ़ में मोदी का तोहफा, बनेंगे आधुनिक मेट्रो रेल कोच

रायबरेली की कोच फैक्ट्री में वर्ष 2021 तक तैयार होंगे आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस वाले कोच

Coach Factory in Rae Bareli will be ready by 2021 by Artificial Intelligence Coach

यूपीए चेयरपर्सन और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के गढ़ में मोदी सरकार ने नया तोहफा दिया है। गांधी की संसदीय सीट रायबरेली में मार्डन कोच फैक्ट्री (MCF) में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस युक्त नए जमाने के मेट्रो ट्रेन के कोच तैयार होंगे। इसके लिए एक विदेशी कंपनी को टेंडर दिया गया है। कोचों के वर्ष 2021 तक ट्रैक पर आने की उम्मीद है। 

नई दिल्ली. यूपीए चेयरपर्सन और कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी के गढ़ में मोदी सरकार ने नया तोहफा दिया है। गांधी की संसदीय सीट रायबरेली में मार्डन कोच फैक्ट्री (MCF) में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस युक्त नए जमाने के मेट्रो ट्रेन के कोच तैयार होंगे। इसके लिए एक विदेशी कंपनी को टेंडर दिया गया है। कोचों के वर्ष 2021 तक ट्रैक पर आने की उम्मीद है। 

 

टेक्नोलॉजी देगी कंपनी 

 

एमसीएफ के मेट्रो कोचों के लिए प्रौद्योगिकी की आपूर्ति करने के लिए ज़ायरा कंपनी को चुना गया है। फिनिश-रशियन डिजिटल सॉल्यूशन प्रोवाइडर ज़ायरा मेट्रो ट्रेनों के लिए अंतरराष्ट्रीय मानकों पर आधारित अत्याधुनिक कोच की तकनीक और विशेषज्ञता प्रदान करेगी। गौरतलब है कि इसी साल एमसीएफ ने मेट्रो ट्रेनों के लिए एल्यूमीनियम बॉडी यात्री डिब्बों के डिजाइन, विकास, विनिर्माण, परीक्षण और रखरखाव के लिए टेक्नोलॉजी हायर करने का टेंडर जारी किया था। जायरा ने 150 करोड़ रुपए का यह टेंडर हासिल किया है।  

 

यह भी पढ़ें - मोदी सरकार ने अडाणी के मित्र को बनाया निशाना, आईटी रेड की जद में आया राष्ट्रपति पदक से सम्मानित यह अधिकारी

ऐसे होते हैं कोच 

 

 आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस इस कोच में यात्रियों की सुरक्षा के लिए आधुनिक नाइट विजन हाई रिजॉल्यूशन वाले सीसीटीवी कैमरे, दरवाजे पर एलईडी पैनल, वॉटर लेवल मीटर और इमरजेंसी बटन लगे होते हैं। कोच में इंटरनेट एक्सेस के लिए हॉट स्पॉट भी दिया जाता है। पहियों पर आठ सेंसर लगे होते हैं जो  ट्रैक में पाई जाने वाली खराबी का डेटा रिकार्ड कर उसे क्लाउड पर सेव कर  देता है। 

 

 

यह भी पढ़ें... उम्र 25 साल, सिर्फ ढाई साल में खड़ी की 70 कंपनियां, दो फोर्ब्स की सूची में

 

भारत से जायरा ने की 45 मिलियन डॉलर की कमाई 

 

ज़ायरा की एक विज्ञप्ति के अनुसार  कृत्रिम बुद्धिमत्ता (AI) और औद्योगिक इंटरनेट ऑफ़ थिंग्स (IIoT) सॉल्यूशंस फर्म ने भारत से संबंधित सौदों से 26 डालर मिलियन से अधिक की कमाई की है और 2019 के अंत तक यह लगभग दोगुना होकर 45 डालर मिलियन हो गई है।

 

यह भी पढ़ें - नए साल में आप यह पांच चीजें सीखेंगे तो नौकरी में पाएंगे तरक्की

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन