बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Infrastructureछत पर एयरक्राफ्ट बनाकर कि‍या 6 साल इंतजार, अब सरकार ने कि‍या 35000 करोड़ का करार

छत पर एयरक्राफ्ट बनाकर कि‍या 6 साल इंतजार, अब सरकार ने कि‍या 35000 करोड़ का करार

महाराष्‍ट्र सरकार ने अमोल यादव के साथ 35 हजार करोड़ का एग्रीमेंट कि‍या है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली।  अपने घर की छत पर हवाई जहाज बनाने वाले पायलअ अमोल यादव का सपना आखि‍रकर अब पूरा होने जा रहा है। करीब 6 साल तक मंजूरी के  लि‍ए सरकारी दफ्तरों के चक्‍कर काटने के बाद आखि‍रकार महाराष्‍ट्र सरकार ने उनके साथ 35 हजार करोड़ का एग्रीमेंट कि‍या है। एक वक्‍त ऐसा भी  आया था कि‍ दफ्तरों के चक्‍कर काट काट कर थक चुके अमोल ने यह सारा प्‍लान लेकर अमेरि‍का जाने का मन बना लि‍या था। हालांकि‍ वह शुरू से चाहते थे वह भारत में रहकर ही काम करें। इसके लि‍ए उन्‍होंने महाराष्‍ट्र के मुख्‍यमंत्री देवेंद्र फडणवीस से भी संपर्क कि‍या और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पत्र भी लिखा।

 

उन्‍होंने एक छह सीटर और एक 19 सीटर वि‍मान बनाया था। डीजीसी ने कई बार उनके एयरक्राफ्ट को रजिस्‍टर करने से इनकार कर दि‍या था, जि‍ससे परेशान होकर उन्‍होंने अमेरि‍का जाने का मन बना लि‍या था।  अमोल ने 28 दि‍संबर, 2011 को डीजीसीए को एयरक्राफ्ट रजि‍स्‍ट्रेशन के लि‍ए एप्‍लीकेशन दी थी। आगे पढ़ें मुख्‍यमंत्री ने की मदद 

अब हुआ सपना पूरा 
2016 में मुंबई में आयोजि‍त हुए मेक इन इंडि‍या प्रोग्राम में यादव को बड़ा मौका मि‍ला। उन्होंने अपने फ्लैट के टैरेस पर बने छोटे विमान को मुंबई में हुए इस मेगा आयोजन में प्रदर्शित किया। यहां इनके काम को काफी सराहा गया। अब मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की सरकार ने यादव के थ्रस्ट एयरक्राफ्ट प्राइवेट लिमि‍टेड के साथ छोटे विमान के निर्माण और पालघर को एक नए विमानन केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए एक एमओयू (समझौता ज्ञापन) पर हस्ताक्षर किया है। सरकार ने पहले ही घोषणा की थी कि 'मेक इन इंडिया' पहल के हिस्से के रूप में परियोजना को कार्यान्वित करने के लिए 41वर्षीय जेट एयरवेज के पूर्व डिप्टी चीफ पायलट की कंपनी को पालघर में 155 एकड़ जमीन आवंटित की जाएगी, जोकि मुंबई से करीब 100 किलोमीटर दूर है। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट