बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Infrastructure2022 तक सबको पक्‍का घर देने का लक्ष्‍य, बीते 4 साल में 1 करोड़ घर बनवाए: मोदी

2022 तक सबको पक्‍का घर देने का लक्ष्‍य, बीते 4 साल में 1 करोड़ घर बनवाए: मोदी

Pradhan Mantri Awas Yojana: नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों से ऐप पर बात की।

1 of

नई दिल्‍ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों से ऐप पर बात की। उन्होंने कहा कि हमारी सरकार का लक्ष्य 2022 तक सबको घर देने का है। उन्‍होंने कहा, ''हमने प्राण लिया है 2022 तक, जब आजादी के 75 साल हो जाएंगे, हिंदुस्तान के हर परिवार के पास अपना पक्का घर हो। हमारी सरकार ने पिछले चार वर्ष में 1 करोड़ से अधिक घरों का निर्माण किया है जो पिछली सरकार से 328 फीसदी से अधिक वृद्धि है।'' 

 


योजना में सहायता बढ़ाकर 1.30 लाख की 
मोदी ने कहा कि सरकारी याजनाओं के लाभार्थियों से सीधा संवाद करना बहुत अच्छा है। सभी का सपना होता है, उसका एक अपना घर हो और आजादी के कई सालों बाद भी गरीबों की इच्छा अधूरी थी। उन्‍होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत पहले 70 से 75 हजार रुपए की सहायता दी जाती था जिसको अब हमने बढ़ा करके 1.30 लाख रुपए कर दिया है। 

 

बीपीएल की जगह सामाजिक-आर्थिक-कास्‍ट पर शुरू किया सलेक्‍शन 
पीएम मोदी ने कहा कि यूपीए सरकार के दौरान लाभार्थियों का चयन बीपीएल (गरीबी रेखा के नीचे) सूची के जरिए होता था। हमने सामाजिक आर्थिक जाति जनगणना के आधार पर सलेक्‍शन शुरू किया। इससे वो लाभार्थी भी सूची में शामिल हो गए, जो पहले वंचित थे। 

 

कोई पैसा मांगे तो फौरन शिकायत करें
पीएम ने कहा, एक जिंदगी बीत जाती है, अपना घर बनाने में। पर अब ये सरकार दूसरी है और कहावत बदल रही है। अब कहावत होगी- अब जिंदगी बीतती है अपने ही आशियाने में। अगर आपसे इस योजना के लिए कोई पैसा मांगे तो इसकी फौरन शिकायत करें। भारत के सपने और आकांक्षाएं इतने से ही पूरे नहीं होंगे। सब के लिए घर, सबके लिए बीमा, सबके लिए बिजली, सबके लिए और इसीलिए इतने बड़े तादाद में भाईयों और बहनों से जुड़ने का मौका मिला है। 


तीन सरकारी योजना के लाभार्थियों से कर चुके हैं बात 
पीएम मोदी ने इससे पहले 28 मई को नमो ऐप के जरिए उज्ज्वला योजना के लाभार्थियों से बातचीत की थी। इसके बाद, 29 मई को मुद्रा योजना के लाभार्थियों से उनके अनुभव शेयर किए। इसके बाद स्किल इंडिया के लाभार्थियों से बात की।

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट