विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureIndian Air Force Is Much Stronger Than Pakistan Air Force

पाकिस्तान से कहीं आगे है भारतीय एयरफोर्स, 64.5 हजार करोड़ है सालाना बजट

दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है हमारे पास

1 of

नई दिल्ली.

भारतीय एयरफोर्स ने पुलवामा हमले का बदला ले लिया है। मंगलवार सुबह वायु सेना ने पाकिस्तान में जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों पर 1000 किलो की भारी बमबारी की है। इस हमले में भारतीय वायुसेना ने मिराज 2000 विमानों का इस्तेमाल किया है। जिसमें जैश का अल्फा-3 कंट्रोल रूम पूरी तरह नष्ट कर दिया गया है। इस सर्जिकल स्ट्राइक की पुष्टि भारत सरकार ने भी कर दी है। इस सर्जिकल स्ट्राइक-2 के बाद भारतीय वायु सेना की हर तरफ तारीफ हो रही है।

 

कहीं ज्यादा है हमारा बजट

भारतीय वायु सेना पाकिस्तान से कहीं आगे है। हमारे पास न सिर्फ सैनिक ज्यादा है, बल्कि हमारी वायु सेना का रक्षा बजट भी कहीं ज्यादा है। The Diplomat के मुताबिक 2017 में पाकिस्तान ने वायु सेना के लिए 12,789 करोड़ रुपए का बजट दिया था। Institute for Defence Studies and Analyses के मुताबिक 2018 में भारतीय वायु सेना का बजट 64,591 करोड़ रुपए था।

 

भारतीय एयरफोर्स की ताकत

भारतीय वायु सेना में 1,27,200 सैनिक हैं, 814 कॉम्बैट एयरक्राफ्ट हैं। पाकिस्तान के पास 425 कॉम्बैट एयरक्राफ्ट हैं। इसमें चीन में निर्मित F-7PG और अमेरिकी F-16 फाइटिंग फैल्कन जेट शामिल हैं। पाकिस्तान के पास सात airborne early warning and control एयरक्राफ्ट हैं। भारत के पास सिर्फ चार हैं। ArmedForces.eu के मुताबिक भारतीय वायु सेना के पास कुल 2,216 एयरक्राफ्ट हैं, पाकिस्तान के पास सिर्फ 1,143 एयरक्राफ्ट हैं।

 

एयरक्राफ्ट भारत पाकिस्तान
फाइटर एयरक्राफ्ट 323 186
मल्टीरोल एयरक्राफ्ट 329 225
अटैक एयरक्राफ्ट 220 90
हेलीकॉप्टर्स 725 323

 

दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है हमारे पास

1.70 लाख करोड़ सैनिकों और 1500 एयरक्राफ्ट के साथ भारतीय वायु सेना दुनिया की चौथी सबसे बड़ी वायु सेना है। हमसे पहले सिर्फ अमेरिका, चीन और रूस आते हैं। ताकत के मामले में भारतीय वायु सेना दुनिया की सातवीं सबसे मजबूत वायु सेना है। हमारी वायु सेना जर्मनी, ऑस्ट्रेलिया और जापान से बेहतर हैं।

8 दशक से कर रही है देश की सुरक्षा 

8 अक्टूर 1932 को वायु सेना की स्थापना हुई थी। 8 दशक से भी अधिक समय से वायु सेना देश की सुरक्षा कर रही है। नभ: स्पृशं दीप्तम् है वायु सेना का सिद्धांत है। इसे भगवत् गीता के 11वें अध्याय से लिया गया है। वायु सेना का ध्वज 1951 में स्वीकृत किया गया था।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन