बिज़नेस न्यूज़ » Economy » Infrastructureना फीस लगेगी ना कोई पैसा पूछेगा, अब एक दि‍न में खोलें कंपनी

ना फीस लगेगी ना कोई पैसा पूछेगा, अब एक दि‍न में खोलें कंपनी

अपना बि‍जनेस शुरू करना चाहते हैं तो सरकार आपका साथ देने के लि‍ए तैयार है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली। अपना बि‍जनेस शुरू करना चाहते हैं तो सरकार आपका साथ देने के लि‍ए तैयार है। आपको सरकारी दफ्तरों के चक्‍कर नहीं काटने होंगे, आपको कहीं कि‍सी को 'मि‍ठाई' नहीं खि‍लानी होगी और ना ही फाइलों के बंडल बनाने होंगे। इतना ही नहीं सरकार ने अपना बि‍जनेस शुरू करने वालों को प्रोत्‍साहि‍त करने के लि‍ए जीरो शुल्‍क और जीरो पेडअप कैपि‍टल की योजना व अन्‍य कई सुवि‍धाएं शुरू कर दी हैं। 


इसका मतलब ये हुआ कि‍ आपको कंपनी खोलने के लि‍ए ना तो कि‍सी तरह का शुल्‍क देना होगा और ना ही यह दि‍खाना होगा कि‍ आपके पास कि‍तनी पेडअप कैपि‍टल है। आपको महज एक दि‍न के भीतर सर्टीफिकेट ऑफ इनकॉरपोरेशन मि‍ल जाएगा। सरकार ने इसके अलावा भी कई नई सुवि‍धाएं शुरू की हैं, जि‍नका लाभ आप उठा सकते हैं। कुल मि‍लाकर बात ये है कि‍ अगर आप नई कंपनी शुरू करना चाहते हैं तो आपके पुराने कायदों से पूरी तरह से मुक्‍ति‍ दे दी गई है। आगे पढ़ें - ये हैं नई सुवि‍धाएं 

नई सुवि‍धाएं 
- कंपनी के गठन के लि‍ए स्‍पाइस फॉर्म के जरि‍ए पैन, टैन, नाम आरक्षण और नि‍देशकों की पहचान संख्‍या (डीआईएन) सुवि‍धा मुहैया कराने वाली एक नई आसान प्रक्रिया से कंपनियों का गठन करना आसान हो गया है। 
- जीरो शुल्‍क से कंपनी की शुरुआत करें और कोई न्‍यूनतम प्रदत्‍त पूंजी (मिनि‍मम पेडअप कैपिटल) की जरूरत नहीं। 
- रि‍जर्व यूनियन नेम (आरयूएन) सर्वि‍स के तहत डिजि‍टल सि‍ग्‍नेचर सर्टि‍फि‍केट आवश्‍यक नहीं है। 
- सेंटर रजिस्‍ट्रेशन सेंटर (सीआरसी) 1 कार्यदि‍वस के भीतर समामेलन प्रमाणपत्र प्रदान करता है। 
- Spice e - फार्म भरने से पहले डीआईएन की जरूरत नहीं है। 
- श्रम सुवि‍धा पोर्टल के जरि‍ए ईपीएफओ एवं ईएसआईसी के अंतर्गत पंजीकरण।
- दुकान एवं स्‍थापना अधि‍नि‍यम के अंतर्गत पंजीकरण अब रीयल टाईम संस (Sans) नि‍रीक्षण में दि‍या जाता है। 
- जीएसटी पंजीकरण 3 दि‍न में मान्‍य अनुमोदन के प्रावधान सहि‍त ऑनलाइन उपलब्‍ध है। 
- कंपनी मोहर की आवश्‍यकता को बैंक खाता खोलने के लि‍ए समाप्‍त कर दि‍या गया है। 
अगर आप इस बारे में कोई सुझाव देना चाहते हैं तो eodb-dipp@nic.in पर दें। #reformindia के साथ ट्वीट करें एवं Twitter@EODB_India पर फॉलो करें। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट