Home » Economy » InfrastructureHow to choose right cooler for your home

साइज X हाइट / 2 - ये है घर के लि‍ए सही कूलर चुनने का बेस्‍ट फॉर्मूला

कूलर दो तरह के होते हैं - रूम कूलर और डेजर्ट कूलर।

1 of
नई दि‍ल्‍ली। गर्मी पूरे जोश के साथ आ रही है। इसका इलाज केवल तीन चीजों के पास है पंखा, कूलर और एसी। कूलर दो तरह के होते हैं - रूम कूलर और डेजर्ट कूलर। वैसे तो दोनों के काम करने का तरीका एक ही है मगर उनकी परफॉर्मेंस अलग-अलग है। डेजर्ट कूलर आमतौर पर घर के बाहर खि‍ड़की पर रखे जाते हैं, जबकि रूम कूलर घर के भीतर रखे जाते हैं। टाटा क्‍लि‍क की ओर से दी गई जानकारी के मुताबि‍क, डेजर्ट कूलर, ज्‍यादा बिजली और ज्‍यादा पानी की खपत करते हैं हालांकि वह कूलिंग भी ज्‍यादा देते हैं। अगर आपका घर टॉप फ्लोर पर है या गर्मी ज्‍यादा पड़ती है तो डेजर्ट कूलर ही चुनें। अगर कमरा छोटा है और आमतौर पर ठंडक रहती है तो रूम कूलर से आपका काम चल जाएगा। बहरहाल आप जो भी कूलर चुनें पहले ये देखें कि‍ वह आपकी जरूरत पूरा करेगा भी नहीं। 
साइज मायने रखता है 
आपको वही साइज चुनना चाहि‍ए जो आपकी कूलिंग की जरूरत को पूरा करे। अपनी जरूरत को ऐसे कैलकुलेट करें - 

ये है फॉर्मूला 
कूलर की रेटिंग वो कि‍तनी हवा फेंकते हैं इसके आधार पर होती है। एक मि‍नट में कूलर जि‍तनी हवा फेंकता है उसे सीएफएम - यानी क्‍यूबि‍क फीट पर मि‍नट कहते हैं। अपनी जरूरत कैलकुलेट करने का यह एक आसान सा फॉर्मूला है। कमरे का साइज वर्ग मीटर में गुणा छत की हाइट / 2 = सीएफएम। उदाहरण के लि‍ए आपके रूम का साइज 500 वर्गमीटर है और छत की हाइट 8 फुट है तो सीएफएम हुआ 500 गुणा 8 भाग 2 यानी 2000 सीएफएम। आपको इस रूम में कम से कम 2000 सीएफएम वाला कूलर चाहि‍ए होगा। कूलर लेने से पहले उसकी एयर डि‍लिवरी डि‍टेल पढ़ें। अगर कूलर की एयर डि‍लि‍वरी 2000 सीएफएम से कम है तो आपको बड़े साइज का कूलर चुनना चाहि‍ए। 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट