विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureGST Council may reduce tax rate on cement and constructed homes

अब अपना घर बनाने वालों को राहत की तैयारी, मोदी सरकार ले सकती है ये बड़ा फैसला

ज्यादा फायदा देने के लिए बदल सकती है किफायती घरों की परिभाषा

GST Council may reduce tax rate on cement and constructed homes

नई दिल्ली। जीएसटी (वस्तु एवं सेवा कर) परिषद की 20 फरवरी को बैठक हो सकती है, जिसमें सीमेंट पर कर की दर को 28 फीसदी से घटाकर 18 फीसदी करने पर चर्चा होगी, साथ ही इस बैठक में मंत्रियों के समूह (जीओएम) द्वारा अंडर-कंस्ट्रकशन (बन रहे) मकानों पर 5 फीसदी जीएसटी और किफायती मकानों पर 3 फीसदी जीएसटी लगाने की सिफारिश पर विचार किया जाएगा। जीओएम ने इससे पहले बिना इनपुट टैक्स क्रेडिट के साथ अंडर-कंस्ट्रक्शन मकानों पर 5 फीसदी जीएसटी और बिना आईटीसी वाले किफायती मकानों पर 3 फीसदी जीएसटी लगाने की सिफारिश की थी। 

 

लंबे समय से की जा रही दर कम करने की मांग
सीमेंट पर कर की दरों में कमी करने की मांग लंबे समय से की जा रही है, लेकिन इससे सरकार को सालाना 13,000 करोड़ रुपये के राजस्व का नुकसान होगा, लेकिन चुनाव नजदीक आते देख सरकार इसमें कटौती करना चाहती है, साथ ही यह सुनिश्चित करना चाहती है कि दरों में कटौती का लाभ लोगों तक पहुंचे, उन्हें कम कीमत में सीमेंट मिले और घरों के दाम में भी कमी आए। सूत्रों ने बताया कि सीमेंट में प्रस्तावित जीएसटी कटौती और जीओएम की रिपोर्ट पर चर्चा जीएसटी परिषद की 20 फरवरी को होनेवाली बैठक के एजेंडे में शामिल है।

 

बदल सकती है किफायती घर की परिभाषा
जीएसटी परिषद की 20 फरवरी को होनेवाली बैठक से पहले जीओएम की एक बैठक और होगी, उसमें किफायती आवास को फिर से परिभाषित किया जाएगा, ताकि उसमें ज्यादा से ज्यादा गरीब लोगों को शामिल किया जा सके और उन्हें 3 फीसदी कर का लाभ मिले। फिलहाल 50 वर्गमीटर तक के कारपेट एरिया वाले घरों को किफायती घर माना जाता है। इसे बढ़ाकर 80 वर्गमीटर किया जा सकता है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन