विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureGovt will build bridge on Fafamau in Allahabad in three years with budget of 1900 crore rupees

फाफामऊ की गंगा नदी पर 1900 करोड़ रुपए में बनेगा पुल, बदल जाएगी उत्तर प्रदेश के पर्यटन की सूरत

इससे पर्यटन, रोजगार और अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा

Govt will build bridge on Fafamau in Allahabad in three years with budget of 1900 crore rupees

केंद्र सरकार कुंभ व अन्य धार्मिक अनुष्ठानों के लिए इलाहाबाद में गंगा नदी के तट पर आने वाले श्रद्धालुओं को नई सौगात देने जा रही है। सरकार इलाहाबाद के फाफामऊ में 1948.25 करोड़ रुपये की लागत से एनएच 96 पर गंगा नदी पर पुल बनाने जा रही है। 9.9 किमी लंबे इस 6 लेन पुल के निर्माण की परियोजना को स्वीकृति दी गई है। परिवहन मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक परियोजना के निर्माण की अवधि तीन वर्ष तय की गई है यानी इसके दिसंबर, 2021 तक पूरा होने की संभावना है।

 

नई दिल्ली.

केंद्र सरकार कुंभ व अन्य धार्मिक अनुष्ठानों के लिए इलाहाबाद में गंगा नदी के तट पर आने वाले श्रद्धालुओं को नई सौगात देने जा रही है। सरकार इलाहाबाद के फाफामऊ में 1948.25 करोड़ रुपये की लागत से एनएच 96 पर गंगा नदी पर पुल बनाने जा रही है। 9.9 किमी लंबे इस 6 लेन पुल के निर्माण की परियोजना को स्वीकृति दी गई है। परिवहन मंत्रालय से मिली जानकारी के मुताबिक परियोजना के निर्माण की अवधि तीन वर्ष तय की गई है यानी इसके दिसंबर, 2021 तक पूरा होने की संभावना है।

 

श्रद्धालुओं को होगा फायदा

नया पुल इलाहाबाद में एनएच-96 पर मौजूदा पुराने 2 लेन के फाफामऊ पुल पर यातायात की भीड़ की समस्‍या को हल करेगा। नया पुल इलाहाबाद में कुंभ, अर्ध-कुंभ और प्रयाग में संगम में अन्य वार्षिक अनुष्ठानों अौर धार्मिक स्नान के दौरान लोगों की भारी भीड़ को भी सुविधा देगा। इससे प्रयागराज में पर्यटन और स्थानीय अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिलेगा। यह नया 6-लेन पुल राष्ट्रीय राजमार्ग-27 और राष्ट्रीय राजमार्ग-76 के माध्यम से नैनी पुल से होकर मध्य प्रदेश से आने वाले और लखनऊ/ फैजाबाद जाने वाले यातायात के लिए भी फायदेमंद होगा।

 

बिहार के फुलौती में भी बनेगा पुल

इसके अलावा बिहार के फुलौत में भी 6.930 किलोमीटर लंबे 4-लेन पुल के निर्माण के लिए एक परियोजना को मंजूरी दी गई है। इस नए ब्रिज के निर्माण से बिहार में उदाकिशनगंज और राष्ट्रीय राजमार्ग संख्या 106 के बिहपुर के बीच मौजूदा 30 किलोमीटर लंबी खाई भर जाएगी, जिससे नेपाल/ उत्तर बिहार/ पूर्व-पश्चिम गलियारे (एनएच- 57 से गुजरते हुए) और दक्षिण बिहार/ झारखंड/ स्वर्णिम चतुर्भुज (एनएच -2 से गुजरना) के बीच कनेक्टिविटी होगी और राष्ट्रीय राजमार्ग-31 का अधिक उपयोग हो सकेगा।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss