विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureGovt Approves Adani's 14000 Cr Rs Jharkhand SEZ Project

झारखंड में बिजली बनाएंगे अडानी, बांग्लादेश को बेचेंगे, सरकार ने दे दी मंजूरी

14 हजार करोड़ रुपए के निवेश से 425 हेक्टेयर में बनेगा विशेष आर्थिक क्षेत्र

1 of

नई दिल्ली.

देश के बड़े उद्योगपति गौतम अडानी जल्द ही झारखंड में बिजली उत्पादन शुरू करने जा रहे हैं। उनकी कंपनी अडानी पॉवर की इस परियोजना को सरकार की मंजूरी मिल गई है। इसके लिए वे 14,000 करोड़ रुपए के निवेश से यहां विशेष आर्थिक क्षेत्र (Special Economic Zone) बनाएंगे। इस परियोजना के तहत बनने वाली पूरी बिजली बांग्लादेश को बेची जाएगी। इसके लिए कंपनी बांग्लादेश के साथ बिजली खरीद समझौते पर हस्ताक्षर कर चुकी है। एक अधिकारी के मुताबिक इस परियोजना को SEZ पर निर्णय देने वाली सबसे बड़ी बॉडी Board of Approval ने मंजूरी दी।

 

गोड्‌डा जिले में बनेगी परियोजना

अडानी पॉवर लिमिटेड ने झारखंड के गाेड्‌डा जिले के मोतिया, माली, गायघाट और अन्य नजदीकी गांवों में कुल 425 हेक्टेयर क्षेत्र में बिजली के लिए स्पेशल इकोनॉमिक जोन बनाने का प्रस्ताव रखा था। फिलहाल कंपनी को 222.68 हेक्टेयर क्षेत्र में भूमि कब्जे की औपचारिक मंजूरी मिली है। शेष 202.32 हेक्टेयर भूमि के लिए सैद्धांतिक मंजूरी मिलनी बाकी है।

2022 तक पूरी होगी परियोजना

इस परियोजना के तहत कंपनी 14,000 करोड़ रुपए के निवेश से 800-800 मेगावाट की दो सुपरक्रिटिल यूनिट स्थापित करेगी। इस परियोजना में पानी की पाइपलाइन और बिजली निकासी का सिस्टम भी स्थापित किया जाएगा। यह परियोजना 2022 के अंत तक पूरी हो जाएगी।

क्या हैं SEZ

स्पेशल इकोनोमिक जोन देश के प्रमुख एक्सपोर्ट हब होते हैं। यहां लगने वाले उद्योगों को कुछ वर्ष के लिए सभी प्रकार के टैक्स से छूट दी जाती है। साथ ही सिंगल विंडो क्लीयरेंस का भी फायदा मिलता है। यहां लगने वाले उद्योगों को आर्थिक सहायता भी दी जाती है। यहां पर इकाइयां लगाने वाले व्यापारियों को लाइसेंस की जरूरत नहीं पड़ती, इंपोर्ट-एक्सपोर्ट करने के लिए बार-बार कस्टम ऑफिसर्स से सामान की जांच नहीं करानी पड़ती। प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष करों में भी कई फायदे मिलते हैं।

​​​​​​​

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss