Home » Economy » Infrastructure7.6% रह सकती है वि‍कास दर, HSBC की रिपोर्ट का दावा - GDP growth in India to accelerate over coming year says HSBC

नोटबंदी-GST से उबर गई इकोनॉमी, 2019-20 में 7.6% रह सकती है विकास दर: HSBC

वर्ष 2019-20 में भारत की वि‍कास दर 7.6 फीसदी तक पहुंचने की उम्‍मीद है।

1 of

नई दि‍ल्‍ली. जीएसटी और नोटबंदी की वजह से हई उथलपुथल से उबरने के बाद वर्ष 2019-20 में भारत की वि‍कास दर 7.6 फीसदी तक पहुंचने की उम्‍मीद है। एचएसबीसी (HSBC) की एक हालि‍या रि‍पोर्ट में यह कहा गया है। 


नोटबंदी और GST से उबर गई इकोनॉमी 
रि‍पोर्ट के मुताबि‍क, जीएसटी और नोटबंदी की वजह से पैदा हुआ हालात से बाहर नि‍कलते हुए भारत की जीडीपी 2018-19 में 7 फीसदी तक पहुंच सकती है जो फि‍लहाल 6.5 फीसदी है। एचएसबीसी के रिसर्च नोट में कहा गया है कि‍ भारतीय इकोनॉमी की ग्रोथ हि‍स्‍ट्री के दो हि‍स्‍से हैं। पहले में छोटे समय के लि‍ए गि‍रावट और फि‍र 2018 व 2019 के फाइनेंशि‍यल ईयर के दौरान धीरे धीरे सुधार शामि‍ल है। 


2020 के बाद होगा तेज वि‍कास 
उसके बाद का समय तेज  से वि‍कास का है जो सन 2020 के फाइनेंशि‍यल ईयर के मध्‍य से शुरू हो सकता है , जब इन ढांचागत बदलावों का असर सामने आने लगेगा। एचएसबीसी के मुताबि‍क, 2017-18 में भारत की आर्थिक वि‍कास दर 7 फीसदी रह सकती है वहीं 2019-20 में यह दर 7.6 फीसदी रह सकती है। रिपोर्ट आगे कहती है कि भारत की जीडीपी में ग्रोथ लगातार बनी रहेगी। इससे रिजर्व बैंक ब्‍याज दरों को बि‍ना घटाए बढ़ाए छोड़ सकता है। 


बैंक के मुताबि‍क, महंगाई की दर 4 फीसदी के आसपास रहेगी, जैसा कि‍ रिजर्व बैंक का अनुमान है। उम्‍मीद है कि 2018 के फाइनेंशि‍यल ईयर में महंगाई दर 3.4 फीसदी रहेगी और 2018 में 4.3 फीसदी रह सकती है। 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट