विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureBoeing 737 Max 8 Aircraft Crashes For The Second Time In 5 Months

दो भारतीय कंपनियों के पास भी हैं Boeing 737 Max विमान, 850 करोड़ रुपए है एक प्लेन की कीमत, अब लग सकती है उड़ान पर रोक

पांच महीने में दूसरी बार क्रैश हुआ है बोइंग 737 मैक्स-8 विमान

1 of

नई दिल्ली.

इथियोपिया एयरलाइंस का बोइंग 737 मैक्स-8 विमान रविवार को क्रैश हो गया था। इसमें सवार चार भारतीय समेत सभी 157 लोग मारे गए। ऐसे में भारत में सिविल एविएशन मंत्रालय Directorate General of Civil Aviation (DGCA) के साथ बात कर रहा है, कि इस विमान की सेवा को स्थगित किया जाए या नहीं। दरअसल, देश की दो बड़ी विमानन कंपनियां- Jet Airways और Spice Jet के पास यह विमान हैं। इस हादसे के बाद इन विमानों की उड़ान पर रोक लग सकती है। बता दें कि हादसे के बाद इथियोपिया ने देश में मौजूद तमाम बोइंग 737 मैक्स-8 विमानों की उड़ान पर रोक लगा दी है। चीन ने भी अपने सभी घरेलू एयरलाइंस को अगले आदेश तक इस मॉडल के विमान को खड़ा कर देने का आदेश दिया है।

 

बोइंग का सबसे तेजी से बिकने वाला विमान

737 मैक्स विमान बोइंग के इतिहास का सबसे तेजी से बिकने वाला विमान है। इस विमान के लिए बोइंग को दुनिया भर से 100 विमानन कंपियों से 4700 ऑर्डर मिले हैं। अभी दुनियाभर में 300 से ज्यादा बोइंग 737 मैक्स-8 विमान सेवा में हैं। Boeing 737 Max-8 विमान की कीमत 850 करोड़ रुपए है। यह विमान कई बार क्रैश हादसों का शिकार हो चुका है, लिहाजा कई देशों ने इसकी उड़ान पर रोक लगा दी है। 2018 में इस मॉडल के विमान ने पहली कमर्शियल उड़ान भरी थी। फिजी एयरवेज, फ्लाई दुबई, सिंगापुर एयरलाइंस, वर्जिन ऑस्ट्रेलिया और कोरियन एयरलाइंस ने इस मॉडल के विमान को खड़ा करने से इनकार किया है। बोइंग ने इस हादसे के बाद Seattle में बुधवार को होने वाले अपने नए 777एक्स विमान का शोकेस इवेंट रद्द कर दिया है।

 

पांच महीने में दूसरा क्रैश

पिछले पांच महीने में यह दूसरा मौका है जब कोई बोइंग 737 मैक्स-8 विमान क्रैश हुआ है। इससे पहले अक्टूबर 2018 में इंडोनेशिया में लायन एयर का बोइंग 737 मैक्स 8 विमान क्रैश हुआ था। तब 180 लोगों की जान गई थी।

भारतीय कंपनियों के पास हैं इतने Boeing 737 Max

देश में Jet Airways और Spice Jet के बास बोइंग 737 मैक्स विमान हैं। जेट एयरवेज ने 225 मैक्स विमानों का ऑर्डर दिया हुआ है। इसमें से 8 विमान डिलिवर भी हो गए हैं। स्पाइस जेट का बोइंग के साथ 205 विमानों का करार है। इनमें से 155 विमान Max मॉडल के हैं। इस वक्त स्पाइस जेट के पास 13 Boeing 737 Max हैं। DGCA ने इन कंपनियों के अलावा निर्माता बोइंग से इस मॉडल के विमानों के बारे में जानकारी मांगी है। इन दोनों कंपनियों की इस मामले पर अब तक कोई प्रतिक्रिया नहीं आई है।

पहले भी DGCA ने मांगी थी रिपोर्ट

अक्टूबर में इंडोनेशिया में बोइंग 737 मैक्स विमान क्रैश होने के बाद डीजीसीए ने जेट एयरवेज और स्पाइस जेट से इस मॉडल के विमान के बारे में पूछताछ की थी। तब डीजीसीए ने दोनों कंपनियों को विमान में मौजूद संभावित समस्या का पता लगाने और उसे दूर करने के लिए कहा था। इसके बाद खबर आई कि इस मॉडल के विमानों में MCAS सिस्टम से जुड़ी समस्या हो सकती है। एमसीएएस एक तरह का स्टॉल रिकवरी सिस्टम है जो पायलट को हवा में विमान के रुक जाने या स्पीड कम होने की चेतावनी देता है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन
Don't Miss