विज्ञापन
Home » Economy » InfrastructureOne lakh crore rupees for Delhi-Mumbai and Dwarka Expressway cost, Swaraj, Jaitley and Gadkari laid the foundation stone

अपनी गाड़ी से दिल्ली से मुंबई पहुंच जाएंगे सिर्फ 13 घंटे में, दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस-वे का उद्घाटन

दिल्ली-मुंबई व द्वारका एक्सप्रेस वे की लागत एक लाख करोड़ रुपए आएगी, स्वराज, जेटली व गडकरी ने शिलान्यास किया

One lakh crore rupees for Delhi-Mumbai and Dwarka Expressway cost, Swaraj, Jaitley and Gadkari laid the foundation stone

अब आप जल्द ही अपनी कार से दिल्ली से मुंबई के बीच का सफर महज 13 घंटे में पूरा कर सकेंगे। यानी ट्रेन से भी जल्दी। अभी यह दूरी 24 घंटे है। यह संभव होगा दो हाई-स्पीड हाईवे कॉरिडोर के जरिए।

नई दिल्ली. 
अब आप जल्द ही अपनी कार से दिल्ली से मुंबई के बीच का सफर महज 13 घंटे में पूरा कर सकेंगे। यानी ट्रेन से भी जल्दी। अभी यह दूरी 24 घंटे है। यह संभव होगा दो हाई-स्पीड हाईवे कॉरिडोर के जरिए। विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, वित्त मंत्री अरुण जेटली और सड़क परिवहन और राजमार्ग मंत्री नितिनन गडकरी ने शुक्रवार को इसकी आधारशिला रखी। इसके तहत दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे पर 90 हजार करोड़ रुपए और द्वारका एक्सप्रेस वे के निर्माण पर 9 हजार करोड़ रुपए खर्च किए जाएंगे। यानी करीब एक लाख करोड़ रुपए।   मंत्रियों ने 1,217 करोड़ रुपये जयपुर रिंग रोड का भी लोकार्पण किया। 

ऐसा है दिल्ली-मुंबई एक्सप्रेस वे 

 दिल्ली-मुंबई  ग्रीनफील्ड एक्सप्रेस वे भारत का सबसे लंबा 1,320 किलोमीटर का होगा।
दोनों महानगरों के बीच यात्रा का समय 24 घंटों से घटाकर 13 घंटे कर देगा।
एक्सप्रेस वे का निर्माण तीन साल में पूरा होगा इस दौरान 50 लाख मानव-दिन का रोजगार पैदा होगा। 
लगभग 15,000 हेक्टेयर भूमि का अधिग्रहण 25,000 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत पर किया जाएगा।
जमीन अधिग्रहण में सारी प्रकिया डिजिटल इंडिया विजन के तहत डिजिटल रूप से की जाएगी। 
सबसे  ज्यादा पर्यावरण अनुकूल होगा जिसमें प्रत्येक 500 मीटर की दूरी पर 20 लाख पेड़ और वाटर हार्वेस्टिंग प्रणाली होगी। 
एक साल से कम वक्त के रिकॉर्ड टाइम फ्रेम में इसकी योजना बनी

अभी 80000 हजार कारें रोजाना गुजरती हैं 


दिल्ली-मुंबई राष्ट्रीय गलियारा (स्वर्णिम चतुर्भुज का NH-8 खंड) सबसे महत्वपूर्ण मार्गों में से एक है, जिसमें प्रतिदिन 80,000 से अधिक यात्री कार इकाइयों (PCU) का औसत ट्रैफिक है। वर्तमान यातायात परिदृश्य को ध्यान में रखते हुए दिल्ली को वडोदरा के साथ जोड़ने के लिए एक वैकल्पिक सड़क विकसित करने का निर्णय लिया गया है। यह सड़क प्रस्तावित वडोदरा-मुंबई एक्सप्रेसवे के साथ जुड़ने पर दिल्ली और मुंबई के बीच सहज संपर्क बनाएगी। दिल्ली-वडोदरा-मुंबई एक्सप्रेसवे दिल्ली-मुंबई के बीच वर्तमान दूरी में लगभग 150 किमी की कमी करेगा। दिल्ली-वडोदरा एक्सप्रेस वे व वडोदरा-मुंबई एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट को  45-45 हजार करोड़ रुपये की लागत से लागू किया जाएगा।

ऐसा है द्वारका एक्सप्रेस वे 


द्वारका एक्सप्रेस वे 29 किमी लंबा है। यह आठ-लेन वाला राजमार्ग होगा, जिसके दोनों ओर तीन-लेन सर्विस रोड होगी। 

18.6 किमी हरियाणा में और 10.1 किलोमीटर दिल्ली में इसकी लंबाई। चार पैकेज में इसे विकसित किया जाएगा।

यह द्वारका सेक्टर 25 में  प्रदर्शनी-सह-कन्वेंशन सेंटर (ईसीसी) तक सीधी पहुंच भी प्रदान करेगा।

द्वारका की ओर से इंदिरा गांधी अंतर्राष्ट्रीय हवाई अड्डे के लिए पश्चिमी कनेक्टिविटी  देने का भी प्रस्ताव है।

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट
विज्ञापन
विज्ञापन