Home » Economy » InfrastructureDalmia Bharat also adopting 14th century Gandikota Fort

लालकि‍ले के बाद 650 साल पुराना यह कि‍ला भी डालमि‍या के हवाले, लोग कहते हैं छुपी धरोहर

डालमि‍या भारत ग्रुप केवल लालकि‍ला ही नहीं बल्‍कि‍ वैभवशाली गंडीकोटा किले को भी नए सि‍रे से संवारेगा।

1 of
नई दि‍ल्‍ली। डालमि‍या भारत ग्रुप केवल लालकि‍ला ही नहीं बल्‍कि‍ वैभवशाली गंडीकोटा किले को भी नए सि‍रे से संवारेगा। इसके लि‍ए डालमि‍या समूह ने सरकार से कांट्रैक्‍ट कर लि‍या है। एक खास बात ये है कि‍ यह कि‍ला डालमि‍या की सीमेंट फैक्‍ट्री के काफी नजदीक है। इस वि‍शाल और खूबसूरत कि‍ले का निर्माण 14वीं शताब्‍दी में हुआ था। यह करीब 650 साल पुराना है।  इस कि‍ले और इससे सटे इलाके को 'हि‍डन ग्रांड कैनन ऑफ द साउथ' के नाम से भी पुकारा जाता है, क्‍योंकि‍ भारत की यह धरोहर अमेरि‍का के ग्रांड कैनन जैसी खूबसूरत है, मगर इसके बारे में अभी बहुत लोग नहीं जानते। इसकी तस्‍वीरें देखकर आप समझ जाएंगे कि‍ क्‍यूं इसकी तुलना अमेरि‍का के ग्रांड कैनन से की जाती है। गंडीकोटा आंध्र प्रदेश में है।  डालमि‍या ग्रुप ने केंद्र सरकार की 'अडॉप्‍ट हैरि‍टेज' योजना के तहत इसे संवारने और इसके रखरखाव का समझौता कि‍या है। यह समझौता 5 साल के लि‍ए कि‍या गया है।  देखें इस कि‍लो की भव्‍यता  

डालमि‍या नहीं होगा जि‍म्‍मेदार 
इस कि‍ले को लेकर जो कांट्रैक्‍ट कि‍या है उसके मुताबि‍क, अगर इसकी मरम्‍मत में कि‍सी तरह का नुकसान हो जाता है तो डालमि‍या ग्रुप को जि‍म्‍मेदार नहीं ठहराया जाएगा। इसके अलावा डालमि‍या ग्रुप आम जनता से कि‍सी तरह की फीस नहीं लेगा हालांकि‍ अर्ध व्‍यावसायि‍क गति‍वि‍धि‍यों के लि‍ए फीस ली जाएगी जो वाजि‍ब होगी। इस तरह की गति‍वि‍धों से आने वाले रेवेन्‍यू को एक अलग बैंक एकाउंट में जमा कराया जाएगा। इस पैसे का इस्‍तेमाल केवल स्‍मारक के रखरखाव में कि‍या जाएगा।  देखें तस्‍वीरें 

 

prev
next
मनी भास्कर पर पढ़िए बिज़नेस से जुड़ी ताज़ा खबरें Business News in Hindi और रखिये अपने आप को अप-टू-डेट